Hamarivani.com

ईमलीगली

प्रिय दोस्त                                            -पंकज त्रिवेदीप्रिय दोस्त,तुम्हारा न होना,तुम्हारी मौजूदगी का गवाह बनाता हैंहर पल...तुम चाहे कहीं भी हो, रहो... खुश रहो... !दोस्ती का अर्थ अपेक्षा या अधिकार नहींयह तो जनता ही हूँ..मगर -दोस्ती का अर्थ यह भी हैं किअपने दोस्तों के कंधेदुःख-द...
ईमलीगली...
Tag :
  August 9, 2012, 1:21 am
भारतीय समाज के पुरोधा साहित्यकार मुंशी प्रेमचंदपता नहीं कैसे किस्तों में रात गुजर रही है ...नींद का दूर दूर तक कोई निशां नहीं सोचता हूँ कुछ पढ़ लिया जाये अपनी सेल्फ की तरफ बढ़ता हूँ तो 'निर्मला',सेवा सदन'.'प्रेमाश्रय','रंगभूमि', ' गबन ' और गोदान ' से उतरते हुये ...
ईमलीगली...
Tag :
  August 1, 2012, 5:10 pm
जिस-जिस से पथ पर स्नेह मिला, उस-उस राही को धन्यवाद।जीवन अस्थिर अनजाने ही, हो जाता पथ पर मेल कहीं,सीमित पग डग, लम्बी मंज़िल, तय कर लेना कुछ खेल नहीं।दाएँ-बाएँ सुख-दुख चलते, सम्मुख चलता पथ का प्रसाद –जिस-जिस से पथ पर स्नेह मिला, उस-उस राही को धन्यवाद।साँसों पर अवलम्बित काया, ज...
ईमलीगली...
Tag :
  May 29, 2012, 7:50 pm
‎'वन हंड्रेड ईयर्स ऑफ़ सॉलीट्यूड' लिखने में मारकेस को बहुत समय लगा था. अठारह महीनों तक लगातार लिखने-काटने में उलझे रहने के कारण उन्‍होंने कोई और काम नहीं किया था. इस दौरान घर चलाने के लिए उनकी पत्‍नी मर्सेदीस ने एक-एक कर लगभग सारा सामान बेच दिया. जब उपन्‍यास पूरा हुआ, तो म...
ईमलीगली...
Tag :
  March 31, 2012, 12:03 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3693) कुल पोस्ट (169569)