Hamarivani.com

BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN

सभी मित्रों को बसंत पंचमी के पावन अवसर पर ढेर सारी शुभ कामनाएँ माँ शारदा सब को सद्बुद्धि और विवेक दें।या कुंदेंदु तुषारहार धवला, या शुभ्र वस्त्रावृता | या वीणावर दण्डमंडितकरा, या श्वेतपद्मासना || या ब्रह्माच्युतशंकरप्रभ्रृतिभिर्देवै: सदा वन्दिता | सा मां पातु सरस्वत...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :
  February 6, 2017, 1:35 am

शारदीय नवरात्रि की ढेर सारी हार्दिक शुभ कामनायें मित्र आप समस्त परिवार और आत्मीय जनों को माँ जगदम्बे आप सभी का सदा कल्याण करें सदा सुपथ पर हम सब को ले कर चलें माँ उँगली पकड़ा कर सदा यही तो करती रही हैं । .भ्रमर ५दे ऐसा आशीष मुझे माँ आँखों का तारा बन जाऊं...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :
  October 9, 2016, 11:14 pm
खिली खिली खिलखिला उठूँ मैंजब से उसने मुझको देखा ...================कोमल गात हमारे सिहरनछुई मुई सा होता तन मनउन नयनों की भाषा उलझनउचटी नींदें निशि दिन चिंतनमूँदूँ नैना चित उस चितवन ....खुद बतियाती गाती हूँ मैं ....खिल...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :bhramar5
  June 4, 2016, 1:14 pm
...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :bijali mahadev
  May 24, 2016, 12:35 pm
महात्मा बुद्ध की जयंती , बुद्ध पूर्णिमा पर आप सभी मित्रों को हार्दिक शुभ कामनाएं आप सब का हर पल मंगलमय आइये महात्मा बुद्ध के जीवन से कुछ अनुसरण कर अपने जीवन को धन्य बनायें ................भ्रमर ५ ===============कोई भी व्यक्ति सिर मुंडवाने से, या फिर उसके परिवार से, या फिर एक जाति में जनम...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :buddha
  May 21, 2016, 1:43 pm
गुमशुदा हूँ  मैं तलाश जारी है अनवरत 'स्व 'कीअपना ‘वजूद’ है क्या ? आये खेले ..कोई घर घरौंदा बनाए..लात मार दें हम उनके  वे हमारे घरों को....रिश्ते नाते उल्का से लुप्त विनाश ईर्ष्या विध्वंस बस 'मैं 'ने जकड़रखा है मुझे झुकने नहीं देता रावण सा एक 'ओंकार' सच सुन्दरमैं ही हूँ - ...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :gumshuda
  May 17, 2016, 7:04 pm
जाने क्यों आती है खुशियांहरी भरी बगिया उपवन सबगिरि कानन सब शांत खड़े थेजोह रहे ज्यों बाट क्लांत मनस्वागत आतुर बड़े खड़े थे===========================आह्लादित भी मन में तन मेंइंतजार कर ऊब  रहे थेलाखों   सपने नैना तरतेपुलकित हो बस सोच रहे थे==========================रोमांचित मन सिरहन वे पलसाँसे लम्ब...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :bhramar5
  May 6, 2016, 12:39 pm
तुम तो जिगरी यार हो ==================दोस्त बनकर आये हो तो मित्रवत तुम दिल रहो गर कभी मायूस हूँ मैंहाल तो पूछा करो ..?-------------------------------पथ भटक जाऊं अगर मैं हो अहम या कुछ गुरुर डांटकर तुम राह लाना (मित्र है क्या ........?)याद रखना तुम जरूर------------------------------ तुम हो प्रतिभा के धनी हे !  और ऊंचे तुम चढ़ो पर न स...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :dost
  April 19, 2016, 5:40 pm
प्रिय मित्रों आज मेरी भार्या और जीवन संगिनी माधुरी का जन्म दिन है बड़ी मधुरता और माधुर्य से भरा रहा जीवन का हर पल  उनके साहचर्य में सहचरी हो तो ऐसी  जो जीवन के हर रंग में पति  का साथ दे, मीठी मीठी यादें सुहाना सफर सदा यादगार बना रहे  , खुशियों से गम न महसूस होने देने कि ...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :janm din
  April 17, 2016, 4:05 pm
नवरात्रों की शुरुआत माँ दुर्गा के प्रथम रूप माँ शैल पुत्री की उपासना के साथ होतीहै। शैलराज हिमालय की पुत्री के रूप में जन्मी माँ दुर्गा के इस रूप का नाम शैलपुत्री है। पार्वती और हेमवती इन्हीं के नाम हैं। माँ का वाहन वृषभ है और इनके दाएँ हाथ में त्रिशूल और बाएँ हाथ में ...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :maa ambe
  April 8, 2016, 8:18 pm
आंगन सूना बिन तुलसी के -------------------------------भोर हुआ, थी रंग -बिरंगी आसमान में छाई बदली इंद्रधनुष था गगन-धरा मंडप पर शोभित पुष्प-अधर कलियाँ मुस्कातीं - जैसे गातीं मन-भावन हे अनुपम छटा से दिल था मोहित !--------------------------------------------------स्वर्ण झील ज्यों भारत माता उसमे अंकित स्वर्ण रश्मि बरसाते सूर...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :paryavaran
  April 7, 2016, 12:56 pm
अभिव्यक्तिकीआजादी=======================पढ़तेहुएबच्चेकाअनमनामनटूटतीध्यानमुद्राबेचैनीबदहवासीउलझनअच्छेबुरेकीपरिभाषाखोखलाकरतीखाएजारहीथी .......कर्मज्ञानगीतामहाभारतरामायणराम-रावणभयडरआतंकरामराज्यदेव-दानवधर्मग्रन्थमंदिरमस्जिद ..औरभीबहुतकुछ ..पीएचडीकरभीजेलजानागरीबअमी...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :desh
  March 5, 2016, 11:45 am
मेरेघरकेबगलकौनहै ?=================मेरेघरकेबगलकौनहै ?सन्तमहाजनयाआतंकीमंथनआओकरलेंप्यारेभूखहैहमकोकितनीधनकी ,,,======================प्रेमक्रोधयाघृणाईर्ष्याजांचोपरखोक्याकुछ  देतेमारो-काटोलेलोबदला ??जीवनक्षणभंगुरकरदेते ..========================मानवयोनिहैदुष्करपाएसंस्कारभारतभूआयेअच्छा-अच्...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :bhay
  February 29, 2016, 3:43 pm
माया का जंजाल बनाये==============मृग नयनी दो नैन तिहारे प्यारे प्यारे प्यार लुटाते भरे कुलांचेइस दिल उस दिल घूम  रहे  हैं मोहित करते माया का जंजाल बनायेसारे तन-मन जीत रहे हैं फिर भी अकुलाये ये नैना बिन बोले कहते कुछ बैनाढूंढ रहे क्या ?प्रेम पिपासु जंगल में भीआग लगी  है है...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :bhramar5
  January 28, 2016, 4:33 pm
सभी प्रिय मित्रों को लोहड़ी , मकर संक्रांति और पोंगल की ढेर सारी  हार्दिक शुभ कामनाएं /किसी ने कितना सुन्दर लिखा भी हैमंदिर की घंटी आरती की थालीनदी के किनारे सूरज की लालीजिंदगी में आये खुशियों की बहारआप सब को मुबारक हो मकर संक्रांति का ये पावन त्यौहारदे ऐसा आशीष मुझ...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :makar sankranti
  January 14, 2016, 7:37 pm
आओप्रियवरस्वागत  करलें(नएवर्षका)नवविहानमेंनयीताजगीकणकणभरलेंदिलदिमागमन  मुक्तभावसेनेहकरेंहमगलेलगाएंशुभसबलाएंऊषासज-धजस्वागतकरतीदेखोआईनूपुरछन-छनस्वर्णरश्मियाँधरतीलाईजंगल-मंगल , हिमआच्छादितश्वेतपहाड़ीखिलेफूलमन-हरझरनेहैंबदलीछाईरंग-बिरंगी ! अमृतवर्...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :naya saal
  January 1, 2016, 7:19 pm
 सभी मित्रों को दुर्गापूजा, विजयदशमी, और दशहरा की हार्दिक शुभकामनाएं.........दे ऐसा आशीष मुझे माँ आँखों का तारा बन जाऊं...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :
  October 23, 2015, 6:26 pm
आओ हम प्रातः उठ जाएँ दोनों कर नैन भरे देखें लक्ष्मी शारद सब दर्शन पाएं माँ-पृथ्वी के हम गले लगें भजन कीर्तन जुड़ प्रभु से कुछ योग-ध्यान में खो जाएँ ले दिव्य दृष्टि पाएं प्रभु कोजीवन को अपने सफल बनायें आओ हम प्रातः उठ जाएँ प्रातः वेला में घूम -टहल देखें कलरव हर चहल पहलजब खि...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :din
  September 30, 2015, 6:47 pm
भोरकीवेलामेंजबकलहमअजनवीदोमिलेदूरियांसिमटीनहींपरनैनभरप्यालेपिए !इतनीसारीप्यारीबातेंमननेजीभरभरकियेवादियाँगुमसुमखड़ीथींशान्तशीतलव्यासथीपुष्पअगणितखिलउठेथेखींचनजरोंकोरहेथेपरनजानेनैनभँवरेनैनमेंक्योंखोगएथे ?व्यासनदियाकाउफनताशोरफिरकानोंमेंबोलाजो...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :bhramar5
  September 17, 2015, 6:52 pm
रक्षा बंधन पावन पर्व के शुभ अवसर पर सभी प्यारी बहनों और सभी मित्रों को ढेर सारी शुभ कामनाएं सभी बन्धु बांधव प्रिय जन सज्जन भाइयों को उनका प्रेम सदा मिलता रहे बहने सदा ख़ुशी और शांति से जीवन के सोपान पर अग्रसर हों सब सदा उनका सम्मान और मान रखें ये अनमोल राखी का बंधन सदा एक ...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :bhramar5
  August 28, 2015, 6:42 pm
नर्सिंग होम कुकुरमुत्ते सा उगा व्यापार  का नया धंधा फलता -फूलता ना हो कभी मंदा मेडिकल वाले उन्हें ही अच्छा बताते हैं रिक्शे वाले भाई पकड़ यहाँ लाते हैं भाड़ा नहीं - 'कमीशन'ले जाते हैं अच्छा सा होटल है -ए.सी. है हीटर है, गीजर है टी वी है केबल है पान...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :bhramar5
  August 24, 2015, 3:52 pm
मेरी आँखों में झांको तो=====================दो चार महीने का बच्चा वोउस किरण पुंज में झांक रहा हैआभा-रिश्ता-प्रिय-चाहे क्यों??तिमिर अकेले चीख रहा हैये किरणे उसके आशा की किरणे लगतीनन्ही स्वप्निल आँखों से देखे जगतीकल का भविष्य कुछ देख रहा हैनन्हे हाथ चलाये सागर तैर रहा हैअनुरागी है ...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :bachchha
  July 9, 2015, 3:27 pm
गाल गुलाब छिटकती लाली -----------------------------जुल्फ झटक मौका कुछ देती अँखियाँ भरे निहार सकूँ कारी बदरी फिर ढंक लेती छुप-छुप जी भर प्यार करूँ=================इन्द्रधनुष सतरंगी सज-धज त्रिभुवन मोहे अजब मोहिनी कनक समान सजे हर रज कण किरण गात तव अजब फूटती ========================गहरी झील नैन भव-सागर उतराये डूबे ...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :bhramar ki madhuri
  June 8, 2015, 6:14 pm
अच्छा लगता सब कुछ- जैसे माँ की लोरीगिरि की खोह से निकला सूरज स्वर्ण रश्मियाँ ज्यों सोना बरसाईं हुआ उजाला चमक उठा सब चिड़ियाँ चहकीं अंगड़ाई ले जागा नीरज------------------------------------------खिले फूल बहुरंगी प्यारे खिले-खिले हर चेहरे न्यारे रंग बिरंगी तितली मन को चली उड़ाए पंख लगा मन भर 'कुबेर'स...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :bhramar5
  May 23, 2015, 1:31 pm
आओमाँमैपुनःचिढाऊं==========================(mother with father )मन कहता मै पुनः शिशु बन माँ के आँचल खेलूँकल्पवृक्ष सम माँ ममता संग गोदी खेले प्रेम का सागर पी लूँ======================मुझे निहारे मुझे दुलारे तुतला गाये शिशु बन जाए हो आनंदित हर सुख पाये माँ को मेरी 'आँच 'न आये ----------------------------मुझमे माँ का प्राण बसा ...
BHRAMAR KA DARD AUR DARPAN...
Tag :maa
  May 11, 2015, 7:32 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3666) कुल पोस्ट (165829)