Hamarivani.com

pragyan-vigyan

एक करारी हार पर न इतना गम मनाओ तुम!वीर हो, तुम धीर होपग दूसरा फिर बढाओ तुम.त्याग दो इस हार परमन में जो भी हो हताशा,आत्म चिंतन की घडी मेंआज कैसी यह निराशा?इस हार को ठोकर बना लोदो कदम आगे बढोगे,मान बैठे फिसलन इसे यदिकदम चार नीचे गिरोगे.करती भ्रमित काली जो बदली, राह में अंधेर ब...
pragyan-vigyan...
Tag :
  May 22, 2012, 12:21 pm
विद्यार्थी, शिष्य और गुरु हर छात्र जो जाता है विद्यालयविद्यार्थी वह कहलाता है,लेकिन सब छात्र नहीं विद्यार्थीअधिसंख्यक हैं उसमे शिक्षार्थी.शिक्षार्थी का लक्ष्य जीविकोपार्जनसुख भोग के खातिर वह पढता है,विद्यार्थी का लक्ष्य कुछ जानना हैजिज्ञासा शमन को वह पढ़ता है.ज...
pragyan-vigyan...
Tag :
  May 14, 2012, 3:05 pm
कविता की बात अब मत पूछ यार!वह है सम्पूर्ण जीवन व्यापार.जिसने सुनी नहीं, पढ़ी नहींलिखी नहीं कोई कविता.समझो बही ही नहीं उसकेजीवन में रस की कोई धार.सुखट्टू ..और निखट्टू ..है वह, केवल जीता है,क्योकि जीना है उसे.मरना वह जनता ही नहीं.और जो मरना नहीं जनता,वह जीना क्या खाक जानेगा?यह...
pragyan-vigyan...
Tag :
  April 27, 2012, 7:09 am
बात की बात में हम यूँ ही बोल जाते हैं कई बात.लेकिन क्या जानते हैं-उस बात की पूरी बात ?कोई बात: मात्र एक बात नहीं,यह होती है उसकी - 'औकात'.होती है पहचान उससे हीउसके व्यक्त्तित्व की,देश की, धर्म की, जाति की.जिस बात में न हो दम,मत करो उसकी कोई बात.करना हो तो करो उसकी बातजो बात की बा...
pragyan-vigyan...
Tag :
  April 23, 2012, 10:22 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163583)