Hamarivani.com

प्यास

क्यूँ नजर आती हैदर्द की किरचें यूँ बिखरी हर ओरसंभल कर चलता हूँ, फिर भीकमबख्त पैर पड़ ही जाता हैचुनने की कोशिश मेंहाथ भी लहूलुहान कर बैठा हूँयकिं था, एक-एक कर समेट ही लूँगा इन्हें पर, बदकिस्मती तो देखोजिस्म में खून का कतरा न बचान भाग, न समेट सकता हूँबस, किरचों में ही कहींते...
प्यास...
Tag :
  December 14, 2011, 1:07 pm
सुना था मैंनेखुदा के दर से नहीं जाताकोई खाली हाथमगर न जाने क्यूँचौखट से तेरी लौटा हूँ हमेशा उल्टे पाँवयह भी सुना था कभीतकदीर देती है सभी कोएक मौका जरूरमगर हम देखते रह गएजिंदगी यूँ ही तमाम हो गईकहते तो यह भी हैं कहने वालेजो करता है कोशिशजीत हो ही जाती है उसकीफिर कैसे, कह...
प्यास...
Tag :
  December 9, 2011, 2:30 pm
वह अपनी शर्तों परजिंदगी जीता था कभीअब शर्तों के भरोसे है जिंदगी उसकीबहुत समझाया थाकाबू में रखना नामुराद दिल कोदे गया ना यह तिल-तिल जीने की सजामाना की प्यार में कोई शर्त नहीं होतीपर कमबख्त पहली शर्त ही यह है, कुछ भी करो मगर इश्क में कोई शर्त न रखोहम नहीं जानते सही और गलत...
प्यास...
Tag :
  December 7, 2011, 2:56 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163832)