Hamarivani.com

संतमत great saint of india

क्यों कल्पनाएं और सिद्धांत हमारे दिमाग में जड़ें बना लेते हैं ? क्यों हमारे लिए तथ्य सर्वाधिक महत्वपूर्ण नहीं हो जाते । बजाय संकल्पनाओं के । सिद्धांतों के ? क्यों संकल्पनात्मक । सैद्धांतिक पक्ष तथ्यों की अपेक्षा इतना महत्वपूर्ण हो जाता है । क्या हम तथ्य को नहीं समझ प...
संतमत great saint of india...
rajeev kumar kulshrestha
Tag :विचार अनुभव और ज्ञान
  April 6, 2012, 7:49 pm
क्या आप जानते हैं । धर्म क्या है ? जप तप पूजा या ऐसे अन्य रीति रिवाज धर्म नहीं । धातु पत्थर की मूर्ति  पूजा में भी नहीं । न मंदिर । न मस्जिद । न चर्च । न गुरुद्वारा में है । बाइबिल । गीता । कुरआन । ग्रन्थ साहब । पढ़ने या दिव्य पवित्र कहे जाने वाले नामों को तकिया कलाम बना लेने ...
संतमत great saint of india...
rajeev kumar kulshrestha
Tag :ध्यान जीवन की महानतम कला
  April 6, 2012, 7:41 pm
आप जानते हैं - एकाग्रता एक प्रयास है । किसी विशेष पृष्ठ । एक विचार धारा । छवि । चिह्न आदि पर ध्यान केन्द्रित करना आदि । एकाग्रता अपवर्जना की एक प्रक्रिया है । एकाग्रता किसी चीज को वर्जित कर अन्य पर ध्यान केन्द्रित करना है । आप किसी छात्र से कहते हैं - खिड़की के बाहर मत देख...
संतमत great saint of india...
rajeev kumar kulshrestha
Tag :
  April 6, 2012, 7:40 pm
यह हमारी एक परंपरा रही है । जो कहती है । आपको भले होने । या सच्चा इन्सान बनने के लिए । दुख उठाने होंगे । ईसाई जगत में भी । और हिन्दुओं में भी । भले ही इसे । दोनों अलग अलग शब्दों में व्यक्त करते हैं । हिन्दू । इसे कर्म वगैरह कहते हैं । ईसाई । कुछ और । और वो सब जगह कहते हैं कि - आप...
संतमत great saint of india...
rajeev kumar kulshrestha
Tag :आत्म ज्ञान मुक्ति की भावना
  April 6, 2012, 7:37 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167977)