Hamarivani.com

दिल की बातें

आज एक हास्य कविता एक बच्चा रो रहा था , मेले में  अनाउंसमेंट हो रहा था ,जल्दी आएं जिन का बच्चा हो ले जाएँ | तभी सौ से ज्यादा लोग वहां आते है जल्दी से बच्चा दिखाओ चिल्लाते हैंबाह बोला आप लोगों को क्या हो गया है क्या आपका बच्चा भी खो गया है | भीड़ बोली हम कोई बच्चा लेने ...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :
  March 3, 2016, 9:24 pm
धोनी की सेना निकली दोहराने फिर  इतिहास अब तो अपनी पूरी होगी विश्व विजय की आस |शास्त्री  की रणनीति भी है और विराट  का शौर्य ,धोनी की तो धूम मची है विश्व में चारों ओर |रोहित  का जब बल्ला बोले तब गेंदबाज  हो निराश,अब तो अपनी पूरी होगी विश्व विजय की आस |शमी और  याद...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :शुभकामनायें
  March 20, 2015, 6:43 pm
पत्नी बोली , शादी के समय तो सात जन्म साथ निभाने का वादा करते हो | और शादी के बाद ,सात मिनट में ऊब जाते हो | इंसान से ज्यादा प्यार आजकल पक्षी कर रहे हैं वह देखो, उस डाल पर बैठे ,चिड़वा और चिड़िया दो घंटे से ,कितने प्यार से बात कर रहें हैं | पति बोला , भाग्यवान तुम्हारी आँख की रोशनी  ...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :निर्मल हास्य
  March 14, 2015, 3:23 pm
मेरी छत पर आकर सूरजक्यों ? जल्दी ढल जाता है |उगते सूरज की पहली किरण ,जब मेरे आँगन में पड़ती है |फटा बिछौना टूटी खटिया ,यही तो उसको दिखती है |धीरे धीरे तपता  सूरज ,जब मेरी रसोई में आता है |खली बर्तन ,ठंडा चूल्हा ,और नहीं कुछ वह पाता है |लिए लालिमा सूरज ,जब मेरी खिड़की पर आता  ...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :कुछ अनकही
  October 1, 2014, 9:33 pm
इसे किस्मत का करिश्मा मानूँ या कहूँ कि उसकी तदवीर थी ऐसी | आज नोटों को गिन रहा है वह ,कल तक जो सिक्कों का हिसाब रखता था ...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :
  September 21, 2014, 12:01 pm
आज फिर ,हवा में कुछ ठंडक है | लगता है सर्दियाँ ,जल्दी ही आ जायेंगीं | और फिर सर्दियों , भूखे, नंगे बदन पर अपना ज़ुल्म ढायेंगी | यह सोंच कर ,ना जानें क्यों आज मेरा, पसीना छूट जाता है|  ...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :लघु कविता
  September 18, 2014, 8:44 pm
हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में राजभाषा को समर्पित कविता रंग बिरंगे फूल खिले है  भाषा के इस उपवन में |सबकी अपनी सुगंध बसी हैहर मानस के मन में |मग़र इस उपवन की शोभा कोबस एक ही पुष्प बढ़ातानाम पड़ा है हिंदी जिसका और जो सबको महकाता  |अपने रस की कुछ बू...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :
  September 14, 2014, 5:24 pm
छाया हो जब घनघोर अँधेरा,तब तुम दीप जलाना  सीखो ।कुछ रोना कुछ हंसना सीखो,कुछ खुद को समझाना सीखो ।गुस्से से ना मिलेगा कुछ भी,प्यार से जिद मनबाना सीखो ।भींगी बिल्ली रहोगे कब तक,कभी तो शेर बन जाना सीखो ।बनों  पुजारी शांति के तुम,पर कभी तो आँख दिखना सीखो ।क्रोधित हो कर ...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :
  November 1, 2013, 8:39 pm
क्यों तमाशायी भीड़ का हिस्सा बनें हैं आप अच्छा तो होगा, कोई किरदार आप भी निभा जाइये | आनें जानें के दरमियां जो वक्त मिला है आपको जो दिलो दिमाग पर छा जाये, कोई ऐसा काम कर जाइये | ...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :
  October 20, 2013, 7:40 pm
तुमको तुम्हारे शहर की सड़कों पर पड़ी ,जिन्दा लाशों की कसम मत डालना तुम ,इन पर झूठी सहानुभूति का कफ़न इनको यूँही पड़ा रहने दो चीखने दो चिल्लाने दो तुम्हारी सभ्यता की कहानी इनको ही सुनाने दो सड़क पर पड़े हुए यह लोग हमारे बहुत काम आते है |तभी तो हमारे राजनेता...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :कविता मेरी पसंद से .
  August 18, 2013, 9:32 pm
आज सारा भारतवर्ष  शहीदों को अपने अपने अंदाज में श्रद्धांजलि  दे रहा है |  अब प्रश्न  उठता है इनमें से कितने लोग इन्हें कल याद रखेंगे इसका उत्तर  मै आप परछोड़ता हूँ |क्या आपने कभी यह सोचा  जिस परिवार का कोई व्यक्ति शहीद  होता है उस घर का क्या हाल होता है |मै ...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :
  August 6, 2013, 10:04 pm
ब्लोगिंग की आखिर तीसरी वर्षगाँठ किसी तरह मना  रहा हूँ ।यूँ  तो इस वर्ष लेखन कुछ खास नहीं हो पाया फिर भी तीन वर्ष पूरे  कर लिए .....ब्लॉग का व्यौरा कुछ इस प्रकार रहा ...कुल रचनाएँ    १७३  ( एक सौ तिहत्तर )  दो सौ का इंतजार हैं कुल टिपण्णी   ५६0२  ( पांच हजार दो )कुल अनुसरण कर्ता   २६० ...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :रिपोर्ट कार्ड
  April 6, 2013, 10:06 pm
मेरे एक मित्र का फोन आया कि आप तो कवि  हैं एक जल्दी से हमारे विद्यालय के वार्षिक उत्सव पर कविता लिख कर मेल कर दो, समय दिया केबल एक घंटे का ...पत्नी ने धिक्कारा ऐसे तो कवि बने फिरते  हो एक काम नहीं कर सकते हमारे अन्दर का कवि जग उठा और पंद्रह मिनट में रच डाली मज़बूरी की कविता .....
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :जब दिल में आया
  April 3, 2013, 10:07 pm
ज़िन्दगी की कश्ती में हिम्मत की पतवार होना चाहिए ।मोड़  सकते हैं हम तूफानों का रुख, दिल में यह एतवार होना चाहिए।मेरी कश्ती तो टूटी थी जो मौजों में फंस कर डूब गयी ।मेरे डूबने पर तूफानो  को नहीं नाज़  होना चाहिए ।मेरी कश्ती दो चार हिचकोले खा गयी तो क्या हुआ ।कश्तियों को भ...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :ग़ज़ल
  February 2, 2013, 10:17 pm

...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :
  February 1, 2013, 10:07 pm
ज़िन्दगी की कश्ती में हिम्मत की पतवार होना चाहिए ।मोड़  सकते हैं हम तूफानों का रुख, दिल में यह एतवार होना चाहिए।मेरी कश्ती तो टूटी थी जो मौजों में फंस कर डूब गयी ।मेरे डूबने पर तूफानो  को नहीं नाज़  होना चाहिए ।मेरी कश्ती दो चार हिचकोले खा गयी तो क्या हुआ ।कश्तियों को भ...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :ग़ज़ल
  February 1, 2013, 10:07 pm
आज जब शहीदों के सम्मान की बात चल रही हैं तो मै अपनी बात चार पंक्तियों में रखना चाहता हूँ ।यदि इन शहीदों का सम्मान चाहिए । तो एक युद्ध और  घमासान चाहिए ।मै कश्मीर सियाचिन नहीं मांगता ,मुझको तो पूरा पाकिस्तान चाहिए ।...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :मुक्तक
  January 14, 2013, 8:26 pm
आज जब शहीदों के सम्मान की बात चल रही हैं तो मै अपनी बात चार पंक्तियों में रखना चाहता हूँ ।यदि इन शहीदों का सम्मान चाहिए । तो एक युद्ध और  घमासान चाहिए ।मै कश्मीर सियाचिन नहीं मांगता ,मुझको तो पूरा पाकिस्तान चाहिए ।...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :मुक्तक
  January 14, 2013, 8:26 pm
कूद कर मेरी बेटी का गोद में बैठ जाना गलें  में बाहें डाल कर ,कुछ माँगनाऔर हँसकर,मेरा उसकी , मांग को पूरी करना |मगर आज, माँगा है उसने ,सलवार और कुर्ता,फ्राक के बदले |क्योंकि वह हो गयी है बड़ी|अचानक मेरा ,गहरी सोंच में डूब जाना   डर कर सहम जाना |उसे इस वहशी समाज , से कैसे है बचा...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :आजकल के हालात पर एक नज़र
  December 30, 2012, 9:58 pm
चलो उठोउठाओं फावड़ेखोदो कब्रकुछ जिन्दा लाशों कोदफनाना हैं ।धरती का बोझकुछ कम करना हैं ।...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :लघु कविता
  December 7, 2012, 6:58 pm
आज बहुत दिनों के बाद ब्लॉग पर आया हूँ ।अपनी एक पुरानी  रचना ले कर , जो मेरी पसंद की हैं ।आशा करता हूँ आपको भी पसंद आएगी । यही सत्य हैं....झाँक कर देखा खिड़की सेउमड़ते हुए बादलों कोदौड़ कर आँगन में आया | और आकाश में बादलों का एक झुंड पाया | और शुरू हो गया तलाश का,एक अंतहीन सिलस...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :कुछ मन की
  November 20, 2012, 7:16 pm
जो अपनी कद नुमाई  कर रहा हैं ।वह अपनी जगहंसाई कर रहा हैं ।जरा सा जोश क्या दरिया को आया ,वह समुंदर की बुराई  कर रहा हैं ।जो राह चलते लोगों में खामियां निकाल लेता है ।जरुर उसके घर कोई आईना  नहीं होता ।उसूलोंउसूलों पर अगर आंच आये तो टकराना ज़रूरी  हैं ।जिन्दा हो अगर तो  ज़िं...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :
  November 2, 2012, 6:07 pm
एक बार एक नदी के किनारे दो सन्यासी अपनी पूजा पाठ में लगे हुए थे । उन सन्यासी में से एक ने गृहस्थ जीवन के बाद सन्यास ग्रहण किया था जबकि दूसरा बाल्य अवस्था से हीसन्यासी था। उन्होंने देखा की एक स्त्री नदी में स्नान कर रही हैं और नदी का स्तर लगातार बढ़ रहा हैं । उनमें से एक स...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :शिक्षाप्रद
  October 3, 2012, 6:13 pm
                                                               श्रद्धांजलि   नाम  : चन्द्र मौलेश्वर प्रसाद जन्म : 07 अप्रैल 1942मृत्यू : 12 सितम्बर 2012 ब्लोगिंग  सितम्बर 2007 ब्लॉग : कलम ‘मेरी दीवानगी पर होशवाले बहस फ़रमायें’      हिंदी ब्लोगर फोरम इंटर नेशनल स्थान :    हैदराबाद अंतिम पोस्ट आदरणीय ब्लागर...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :श्रद्धांजलि
  September 24, 2012, 10:26 pm
एक  बार जब भगवान् शंकर धरती भ्रमण करके लौटे तो उनका मन बहुत अशांत था ।पार्वती  ने कहा जब आप धरती लोक से बापस आते थे तो बहुत प्रसन्न होते थे मगर इस बार ऐसा क्या हुआ कि आपका मन अशांत हैं । भगवान् शंकर ने कहा तुम तो जानती हो की मैं धरती पर लोगों को सुखी देखना चाहता हूँ लोगों क...
दिल की बातें...
Sunil Kumar
Tag :दन्त कथा
  September 8, 2012, 6:04 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3693) कुल पोस्ट (169556)