Hamarivani.com

कविता-एक कोशिश

Presence of you is everywhere at every stoPPanacea at any time ,you keep me at the toPOver your memories my heart swings to &  frOOnly you are the only truth where i w'll gOEternal and always prominent, you are my lifEEveryday and  anytime ,you protect my pridETrust can be broken but you  can'TThe world can change but you are always presenTRespect you give and make me brighteRRise with me in spring ,in autumn you do prayeRYes, you are my soul ,who make me happYYacht of my life,you are  my  lone poetrY...
कविता-एक कोशिश...
Tag :मेरी आवाज़ सुनो
  August 8, 2017, 5:09 pm
जब  तक  रहे  किसी  का  इंतज़ार  आँखों  मेंऔर  रहे  एक  पुकार  खुद  की  साँसों  मेंतब  तक  ही   ज़िन्दगी  ज़िन्दगी  कहलाती   हैवरना  क्या  रखा  है फजूल  की  बातों  में ...जो  तुम  नहीं  थे  तो  तेरी  जुदाई  संग  थीबेपरवाह ...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  June 1, 2017, 3:15 pm
सामने तेरे  इक आईना होगा ,दर को तूने जो बंद किया होगा तेरी  पलकों   पे जो कहानी है देख कर कोई सो  गया होगा "नील "लिखूँ तो फिर ...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  May 12, 2017, 8:41 am
तुम  यूँ  पत्थर  न  कभी उठाया  करना एक पल में  किसी को न  पराया  करना !!तेरी साँसे पलती हैं कई साँसों से उनके एहसान कभी न भुलाया करना !!देखो गुलाब भी काँटों को भी संग रखता है दिल में दर्दों को वैसे ही  छुपाया करना !!ओस की बूंदे हर सुबह जैसे खो जाती हैंज...
कविता-एक कोशिश...
Tag :कलम
  May 1, 2017, 6:51 pm
किस बात से खफा थे सब ,ये मालूम है मैं अकेला और पीछा करता हुजूम है खामोश है मेरी तरह जो बीते कल की तरह ,जो आईना सा है मेरा ,वो ही म...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  April 10, 2017, 10:09 pm
हर नजर में है बेचैनी ,हर नजर का इशारा भी ,ये  कहते  हैँ  मैं उनका हूँ ,वो कहते हैँ हमारा भी जिस राह की कहानी तुमको अभी सुननी है...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  April 8, 2017, 4:38 pm
चासनी बेचने वाला अब दिखाई नहीं देता उसे नीम चखाने की आदत लग गयी थी अब दूकान पर चींटियों का बसेरा है!...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  April 1, 2017, 8:07 pm
चुपचाप   सा  रह  जाना ,आपके  मामूल  क्यूँ  हैँ ,जो  सब  होता  हो  ये  आपको  माकूल  क्यूँ  हैँ किस  रँग  के  उतर  जाने  की  ब...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  March 13, 2017, 12:32 pm
पानी के रँग में डूबे हैँ ,कौन पहचाने सब सफर में हैँ और  ऊबे हैँ ,कौन पहचाने चंद गलियों के अफ़साने ,सुनाया करते इस जहाँ में क्य...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  March 13, 2017, 12:16 pm
है उम्मीदें दामन में ,दर्द का न अब कोई फ़साना होगान होगा इतेफाक ही कोई ,न अब कोई बहाना होगा इम्तेहान हो कोई भी , तयार हैं हम दिल -ओ -जान से मुद्दतों बाद अपना भी ,अब कोई ज़माना होगा !! है अजनबी शहर तो क्या ,हर दिल ही अपनी मंजिल है भीड़ में खोते नहीं , ऐसे दीवानों की ये महफ़ि...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  December 1, 2016, 10:57 pm
कपास को बड़ी अदब से कात रहा है जुलाहा उड़  जाता वो  इधर - उधर   बिन पहचान के पर  आज उस  शामियाने की पहचान उससे है !!...
कविता-एक कोशिश...
Tag :त्रिवेणी
  November 1, 2016, 11:28 pm
कितने मौसम आते हैँ ,जब पंछी मिलकर गाते हैँ बादल ज्यूँ उड़ जाता है ,वो चुपके से खो जाते हैँ खामोशी में धड़कन कब होती हैँ खामोश ,ì...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  October 5, 2016, 9:41 pm
होने को है मुक़ाबिल वो मुकाम की घड़ी  या कहें कि आखिरी सलाम की घड़ी देर तक रहेगी ,स्याही बन के पन्नो पर ये नहीं है कोई दौर -ए -जाम की घड़ी वक़्त ने चाहा कि मैं बस झील बन जाऊँ ,हम नदी हैं ,और ये इन्तेक़ाम  की घड़ी   है इक तरफ शुक्रिया अदायगी अपनी है इक तरफ आपके इन्तेज़ाम की ...
कविता-एक कोशिश...
Tag :कलम
  October 4, 2016, 10:16 pm
तूफ़ान से कुछ डालियाँ  टूट गयी हैंशज़र  अब  भी  वहीँ   हैआज मालिन के बच्चे भूखे नहीं सोयेंगे !...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  October 1, 2016, 4:51 pm
यात्रा जीवन की हो या किसी रेलगाड़ी की, बहुत सारे रिश्तें बंध  जाते हैं  |रेल के डिब्बे जैसे जुड़े रहते हैं उसी सदृश सहयात्रियों से भावनात्मक रिश्ते बांध जाते हैं कभी -कभी|  स्टेशन पर खरे खरे जब रेल गाडी में हम प्रस्थान करते हैं और सभी अजनबी एक दुसरे से बातें करने लग...
कविता-एक कोशिश...
Tag :मेरी आवाज़ सुनो
  August 1, 2016, 5:05 pm
बेआवाज है ,बेचेहरा भी है नज़रों पर अपने पहरा भी है एक  भी पत्थर तो दीखते नहीं ,कहने को ज़ख्म गहरा भी है ये तो गीतों पर है गुनाह ë...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  July 1, 2016, 8:13 am
आये धनुक जाने पर ,ऎसे बरस के देख इक बार बदरे की तरह से तरस के देख मत पूछ कि पत्ते बहुत ही बेआवाज़ हैँ ,रुक जा कहीं और फिर जलवे नफ&#...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  June 14, 2016, 6:47 am
सूख रही है ज़मीं ,और शज़र हो जाये और भी ख्वाईश  ,हासिल घर हो जाये मुझसे बेहतर जान लेते ,मुझसे ही सुनकर मैं भी हो जाता नया सा ,ये ख...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  June 10, 2016, 9:49 am
इक रँग का इख्तियार ,इक रँग का गुरूर कल जाने वो तश्वीर रास आये ,न आये तश्वीर सौंपता है साहिल के रेत को सोचे है ये कि लहर पास आय...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  June 7, 2016, 11:07 pm
दूर  क्षितिज  पर  उगता सूरज ,दिखा  रहा अपना ज्वालापाने  की  कोशिश  में  सबने  ,जीवन  कैसे  बीता  डालाह्रदय  की  धुन को सुन  ले  राही ,सुबक -सुबक  के आस न करतू  ही  खुद का है रक्षक  ,अब  समझाती  ये  मधुशाला ...
कविता-एक कोशिश...
Tag :मेरी आवाज़ सुनो
  June 6, 2016, 7:27 am
जो है तेरा वो तेरा रहे ,ये सवेरा रहे शायद ,जब तक इस जिंदगी का फेरा रहे जैसे की कोई इम्तेहाँ हो और इनको पढ़े साँसों के मानिंद हë...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  May 21, 2016, 4:07 pm
रास्ता आवाज दे  ,और है वो मंजिल ,मुन्तज़िर ,किस तरह लहर का होता है साहिल मुन्तज़िर अब शज़र से बात कर ले पंछी भूल आसमान एक  एक पत्...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  May 15, 2016, 10:43 am
शोर किया पंछी ने ,तो दाना क्यों ले आये बाग लगा दो  दाना तिनका चुग लेंगे ,चुन लेंगे नींद के मारे हैँ सारे,न जाकर  उन्हें उठायें जिस रोज़ खुद जागेंगे ,ख्वाब वहीं बुन लेंगे हम न बोले तो कैसे, होगा फिर बात नुमाया और यही सच है कि आप तो बस सुन लेंगे ...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  May 12, 2016, 8:29 am
तुम अगर दिल कहोगे, तो बहुत झूठे हो तुम ,कब हमें मन कहोगे , कब तलक  रूठे हो तुमशाम हो गयी है तो ,दीपक जला लो आप ही ,साया भी मिल जायेगा ,आस  में बैठे हो तुमजो था मन में समंदर ,हो के बाहर बूँद हैऔर पूछे बूँद ही कि यार अब कैसे हो तुमबस यही लम्हा तो दोनों  को बराबर कर रहाकिस तरह  ...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  May 12, 2016, 7:08 am
हरी घास हूँ तेरी आस हूँज़रा ज़रा सा तेरे पास हूँ--------------------------------------- दूर था खुद से अभी भी दूर हूँआप सुनिए,खुद को नामंज़ूर हूँ---------------------------------------एक सीपी में कहानी गढ़ गयी है दोस्तोंकोई लूटेरा आये तो मोती की कीमत लगे ---------------------------------------अब दूर खड़ा है  साहिल पर ,लहरों की कहानी  बतलाये य...
कविता-एक कोशिश...
Tag :
  May 11, 2016, 11:05 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3719) कुल पोस्ट (172866)