Hamarivani.com

"प्रेम ही सत्य है"

कब से बैठे हैं ये शब्द बेरोज़गारख्वाब दे कुछ इन्हें , इनको कुछ काम देखुख़री सी आवाज़ वाले फ़ौजी गौतम राजर्षि से पहली बार मिलने का सुखद अनुभव हुआ हालाँकि कश्मीर में आई बाढ़ के दिनों में चैट हुआ करती थी फिर भी आमने सामने मिलने की बात ही कुछ और होती है. उस  धारदार खरखरी आवाज़ ...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :
  January 30, 2017, 2:55 pm
बादल, बिजली, बारिशऔर महफ़ूज़ घरों में हमसैनिक डटे सीमाओं परहर पल रखवाली में व्यस्त रखवाली में व्यस्त ना होते पस्तदुश्मन हो या हो क़ुदरत का अस्त्रअचल-अटल हिमालय जैसे डटे हुए बर्फ़ीले तूफ़ानों में गहरे दबे हुए आकुल-व्याकुल से नीचे धँसे हुएघुटती साँसों से लड़ते बर्फ...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :छंदमुक्त
  January 27, 2017, 2:05 pm
दिल्ली से दुबई तक गणतंत्र दिवस का जश्न देखने और मनाने का आनंद अलग ही सुख दे रहा है. कई बरसों बाद पहली बार विश्व पुस्तक मेला देखा और अब गणतंत्र दिवस देखने का सौभाग्य मिला चाहे टीवी के सामने. दसवीं क्लास से कॉलेज ख़त्म होने तक हर साल परेड पर घर परिवार और मित्रों को लेकर जान...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :गणतंत्र दिवस
  January 26, 2017, 11:44 am
सागर की लहरों से बतियाती रेत पर लकीरें खींचती पीठ करके बैठी कोस रही थी चिलचिलाती धूप को सूरज की तीखी किरणें तीलियों सी चुभ रहीं थींहवा भी लापरवाह अलसाई  हुई कहीं दुबकी हुई थी बैरन बनी चुपके से छिपकर कहीं से देख रही होगी सूरज के साथ मिल कर मुझे सता कर खुश होती है ...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :प्रकृति
  June 22, 2016, 2:20 am
ऑफिस से नीचे उतरते ही मैट्रो स्टेशन है. जहाँ से घर की दूरी चालीस मिनट की है. घर के पास वाला स्टेशन भी नज़दीक ही है. हर शाम पाँच बजे सीमा मदर डेरी में होती है. दूध , दही, सब्ज़ियाँ और फल लेकर ही घर जाती है. घर जाते ही फ्रेश होकर पहले अम्मा और अपने लिए चाय बनाती है. दोनों एक साथ चा...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :आदर
  June 14, 2016, 2:27 pm
शब्द शराब बनआँखों के ज़रिएउतरते हैं दिलऔर दिमाग़ मेंनशा ग़ज़ब चढ़तानस नस में उतरताधीरे धीरे असर होताशब्दों का, भावों काइसीलिए तो शब्द सबकेऔर अपने भी पी जाती हूँजो नशा बन छा जातेकरते जादू सा मुझ पर  कर देते मुझे मूक-मुग्ध !...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :जादू
  May 27, 2016, 10:29 pm
मेरी यादों की गुल्लक में आज भी सालों पुराने ड्राफ्ट ताज़ा हैं. जैसे कल की बात हो जब ड्राइविंग लाइसेंस मिलने पर सबने दावत माँगी थी. दुबई में लाइसेंस मिलना आसान नहीं और मिल जाए तो फिर ड्राइविंग स्कूल में भी मिठाई बाँटनी पड़ती है. दस साल पहले तुकबन्दी की थी जो आज साझा करने...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :दुबई
  May 21, 2016, 4:23 pm
रात की  ख़ामोशी में कुछ गज़लें दूर किसी नई दुनिया में ले जातीं हैं... सुनिए और महसूस करके बताइए !ये शीशे, ये सपने, ये रिश्ते, ये धागे किसे क्या खबर है कहाँ टूट जाएँ  मुहब्बत के दरिया में तिनके वफा के ना जाने ये किस मोड़ पर डूब जाएँ.....   अजब दिल की वादी, अजब दिल की बस्ती हर एक ...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :गज़ल
  May 20, 2016, 12:55 am
मीठी -सी माँ हैलोरी मिश्री सी घुलीप्यार की डली *********माँ की बिटियाप्यार दुलार पायासबल हुई । "मीनाक्षी धंवंतरि"...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :हाइकु (त्रिपदम)
  May 16, 2016, 10:42 am
ब्लॉग़ जगत सागर जैसा विस्तार  लिए हुए अपनी ओर खींचता है बार बार हम पंछी से उड़ उड़ आते हैं हर बार फिर से लौटना हुआ पर क्या जानूँ कब तक रुकना होगा लेकिन हर बार लौटना रोमाँचित कर जाता है ! ...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :
  May 15, 2016, 6:40 pm
नहीं जानती कि क्यों वक्त बेवक्त ब्लॉग़ पर आना हो पाता है ..चाह कर , सोच सोच कर भी न आने का कोई खास कारण नहीं है लेकिन ज़िन्दगी बेतरतीब सी है यह पता चलता है.खैर आज आने का खास कारण यह है कि जैसे ही मैंने अपना ब्लॉग खोला तो इस सन्देश को देख कर होश उड़ गए , कुछ समझ नहीं आया कि ऐसा क्यों ...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :
  September 9, 2015, 9:47 pm
अपराध बोध : अध्याय 1 : भयानक रातें               द्वारा तरुण रात का अंधेरा चारों ओर फैला हुआ था, रात के सन्नाटे को चीरती किसी उल्लू की आवाज कभी-कभी सुनायी पड़ रही थी। दूर दूर तक कुछ नजर नही आ रहा था, अशोक के कदम बड़ी तेजी से घर की तरफ बढ़ रहे थे। अचानक आसमान में बड़ी त...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :बुनो कहानी
  September 30, 2014, 9:00 am
कारे कजरारे : अध्याय १ : परिवर्तन                      द्वारा शशि सिंह स्वाति फिर से अपने कमरे में गुमसुम-सी बैठी थी। उसकी मां रंजना हिम्मत नहीं जुटा पा रही थी कि दो शब्द भी कह पाये। हो भी कैसे? उसके लाख मना करने के बाद भी लड़केवालों के सामने उसकी नुमाइश की गई। न...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :बुनो कहानी
  September 24, 2014, 12:27 pm
हर शाम जाते सूरज की बाँहों से किरणें मचल कर निकल जातीं...नन्हीं रंगबिरंगी सुनहरी किरणें बादलों के आँचल से लिपट जातीं...गुस्से में लाल पीला होता  सूरज उतरने लगता आसमान से नीचेगहराती सन्ध्या से सहमे बादल धकेल देते किरणों को उसके पीछे     ...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :क्षणिकाएँ
  September 17, 2014, 1:10 pm
सन 2007 का शिक्षक दिवस नहीं भूलता , उसी दिन त्यागपत्र देकर अपने प्रिय शिष्यों से अलविदा ली थी , यह कह कर कि जल्दी लौटूँगी लेकिन वह दिन नहीं आया. एक शिक्षक के लिए शिक्षा और शिष्य ही अहम होते हैं और जब उन्हें त्याग दिया जाए तो शिक्षक की अपनी आभा भी उनके साथ ही चली जाती है. बस यादो...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :शिक्षा
  September 5, 2014, 2:16 pm
...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :वक्त
  September 4, 2014, 9:57 am
मेरे घर के गमले में खुश्बूदार फूल खिला हैसफ़ेद शांति धारण किए कोमल रूप से मोहता मुझे .... छोटे-बड़े पत्थर भी सजे हैं सख्त और सर्द लेकिनधुन के पक्के हों जैसे अटल शांति इनमें भी है मुझे दोनों सा बनना है महक कर खिलना फिर चाहे बिखरना हो सदियों से बहते लावे में ...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :फूल
  August 24, 2014, 7:39 pm
ना लफ़्ज़ खर्च करना तुम ना लफ़्ज़ खर्च हम करेंगे  --------- ना हर्फ़ खर्च करना तुमना हर्फ़ खर्च हम करेंगे -------- नज़र की स्याही से लिखेंगे तुझे हज़ार चिट्ठियाँ  ------  काश कभी ऐसा भी हो कि बिना लफ़्ज़ खर्च किए कोई मन की बात सुन समझ ले. लेकिन कभी हुआ है ऐसा कि हम जो सोचें वैसा ही ...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :बर्फी
  July 16, 2014, 7:30 am
हर नया दिन सफ़ेद दूध साधुली चादर जैसे बिछ जाता सूरज की  हल्दी का टीका सजा केदिशाएँ भी सुनहरी हो उठतीं  सलोनी शाम का लहराता आँचलपल में स्याह रंग में बदल जाता  वसुधा रजनी की गोद में छिपती चन्दा तारे जगमग करते हँसते मैं मोहित होकर मूक सी हो जाती जब बादल चुपके से उत...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :मेरी कविताएँ
  June 30, 2014, 2:33 pm
आसमान की ऊँचाइयों को झूने की चाहत पिछले महीने बड़े बेटे वरुण का जन्मदिन था. आज छोटे बेटे विद्युत का जन्मदिन है. अपनी डिजिटल डायरी में विद्युत का ज़िक्र दिल और दिमाग में उठती प्यार की तरंगों को उसी के नाम जैसे ही बयान करने की कोशिश कर रही हूँ .....कल दोपहर  विजय रियाद से...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :दुबई
  June 28, 2014, 6:33 pm
समाज से जुड़ी पोस्ट को लेकर अक्सर हम दोनों पति-पत्नी में बहस और कभी तल्खी हो जाती है, जिसके लिए समय चुनते हैं शाम की सैर का...पति जितनी शांति से बात करते हैं मुझे उतना ही गुस्सा आता है. जैसे कि विभाजी की पोस्ट को पढ़ने के बाद हुआ.. सुबह पोस्ट पढ़ने के बाद दोनों ही जड़ से हो गए थे..वि...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :my readings
  May 19, 2014, 10:45 am
सुबह उठते ही हम पति-पत्नी में से कोई न कोई लैपटॉप ऑन कर देता है. सवेरे के संगीत में या तो श्लोक-मंत्र होते हैं या कोई वाद्य यंत्र, हर रोज़ के मूड के साथ यह भी बदलता रहता है.उसके बाद ही दिनचर्या शुरु होती है जिसके साथ-साथ लैपटॉप पर जीमेल, फेसबुक, यूटयूब और टिवटर के चार पन्ने खु...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :लेख
  May 18, 2014, 7:30 am
सुबह उठते ही हम पति-पत्नी में से कोई न कोई लैपटॉप ऑन कर देता है. सवेरे के संगीत में या तो श्लोक-मंत्र होते हैं या कोई वाद्य यंत्र, हर रोज़ के मूड के साथ यह भी बदलता रहता है.उसके बाद ही दिनचर्या शुरु होती है जिसके साथ-साथ लैपटॉप पर जीमेल, फेसबुक, यूटयूब और टिवटर के चार पन्ने खु...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :लेख
  May 18, 2014, 7:30 am
 ट्रैफिक लाइट पर रुक कर अजनबी बंजारन से नज़र मिलना और उसकी मुस्कान से सुकून पा जाना...ऐसे अनुभव याद रह जाते हैं. सड़क के किनारे टिशुबॉक्स एक तरफ किए बैठी उस खूबसूरती को देखती रह गई थी, फौरन कैमरा निकाल कर क्लिक किया ही था कि उसकी नज़र मुझसे मिली....पल भर के लिए मैं डर गई लगा जैस...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :
  May 16, 2014, 7:00 am
  भूली बिसरी यादों की महकके साथ बेटे का जन्मदिन मनाना भी अपने आप में एक अलग ही अनुभव है...जैसे माँ पर लिखते वक्त कुछ नहीं सूझता वैसे ही बच्चों पर लिखना भी आसान नहीं... माँ और बच्चे का प्यार बस महसूस किया जा सकता है.  जैसे अभी कल की ही बात हो , नन्हा सा गोद में था फिर उंगली प...
"प्रेम ही सत्य है"...
Tag :
  May 14, 2014, 7:00 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163813)