Hamarivani.com

यादें...

कहाँ...मेरी है माँ ???कितना प्यारा था बचपन कितना न्यारा था  बचपनजब प्यारी सी माँ के लिए हम सब इक-दूजे से लड़ते थे ऊँची आवाज़ में झगड़ते थे ये मेरी है माँ ,ये मेरी है माँ आज हम भी वही माँ भी वहीबस वो प्यारा, सा बचपन नहीहो गये आज हम सब जवांवक्त छोड़ गया पीछे निशांहम आज भी ल...
यादें......
Tag :
  May 8, 2016, 6:44 pm
कौन रखता है याद , गुज़रे वक्त की बात ये ही वक्त है यादों का ,गुज़रे वक्त की बातों का....  --अशोक'अकेला'अंगूठी...में जड़ा वो जादू कापत्थर .....मासूम बचपन का सच .....गली में खेलते हुए किसी से सुना ..किसी के पास जादू की अंगूठी है और वो उसमें किसी को भी कुछ भी दिखा सकता है .....सिर्फ एक आने ...
यादें......
Tag :
  April 27, 2016, 9:32 pm
लगा के बेटियों को, गले से है हँसाया जाता न इसके के बदले, कभी भी है रुलाया जाता बेटो में देखता बाप, अपने है बचपन की छायामिलता बुढ़ापे में सुकून, पा कर है इनका साया.....मेरी वो आरज़ू......जो हो सकी न पूरी ???काश! मैं भी माँ के आँचल की, छाया में सोता  खूब जी भर खिलखिलाता, फिर कभी खुल ...
यादें......
Tag :
  February 23, 2016, 1:03 pm
हद हो गई इंतज़ार की ....इधर तो कोई झाँक के भी राज़ी नही लगता ...किसी को क्या कहें ..यहाँ अपना भी ये ही हाल है ..इधर आतेआते आज छे महीने होने को आ रहे हैं ???पता नही क्यों ...पर यहाँ जैसा अपनापन कहीं नही ..यहाँ आ कर ऐसा लगता है जैसे भूला भटका शाम को अपने घर आ जाये ....और भूला न कहलाये ....
यादें......
Tag :
  February 4, 2016, 3:47 pm
आज फिर बहुत दिनों के बाद ....यह मेरे दिल से निकले मेरे अहसास हैं ..अपने चारों तरफ़ देखे मेरे तजुर्बात है.... जो, जैसा मैं महसूस करता हूँ ...वो,वैसा ही साधारण सा लिख देता हूँ.......--अशोक'सलूजा'कितना तपाया है...??? जिन्दगी ने..!!!  क्या बताऊँ कितना तपाया है, जिन्दगी ने हर पग पे ठोकर ,तड़प...
यादें......
Tag :
  August 13, 2015, 3:33 am
अकेलेपन में चारो तरफ, सन्नाटा है ,खामोशियाँ हैसाथ देने को सिर्फ, अपनों की एहसां-फ़रामोशियां हैं .....--अशोक'अकेला'वकत के साथ क्या.... नही बदलता??? वक्त के साथ इंसान बदल जाता है वक्त के साथ ईमान बदल जाता है, वक्त के साथ शैतान बदल जाता है वक्त के साथ भगवान बदल जाता है.... वक्त ...
यादें......
Tag :
  May 11, 2015, 12:43 pm
बहुत वक्त लगा दिया मैंने, ये महसूस करने में,अब मेरे ज़ज्बातों की कीमत, कुछ भी नही..... --अशोक'अकेला'पुराना,मैं समाचार हूँ !!!! मैं बीच मझधार हूँ ,बड़ा ही लाचार हूँ कोई न पढ़ें मुझको  मैं वो बासी अखबार हूँ  कोई न डाले गले मुझको मुरझाया फूलों का हार हूँ न कोई अब सुनें मु...
यादें......
Tag :
  February 28, 2015, 3:33 am
माना ,ज़वानी के अपने ज़ज्बें हैंपर बुढ़ापे के भी ,अपने तजुर्बें हैं ......  --अशोक'अकेला'जिन्दगी क्या है .....? जिन्दगी क्या है , ग़मों-सुकून का समुंदर कामयाबी तैर गयी , नाकामी डूब गयी अंदर दूसरों के गिरेबान में झांकता रहा उम्र-भर न कभी झाँका ,न देखा अपने दिल के अंदर बैठ क...
यादें......
Tag :
  January 12, 2015, 1:02 pm
हर कदम पे ज़ालिम जिन्दगी रोज़ इक नया इम्तहान लेती है किसी को बक्शे खुशियों के लम्हे  तो किसी की साँसे थाम लेती है ... --अशोक'अकेला' ये रिश्ते ...ये नाते ???  कैसे हैं ये रिश्ते ,कैसे हैं ये नाते जितना सम्भालो,उतना फ़िसल जाते क्यों मुहं फेर चल दिए उस ओर बंधी जो साथ...
यादें......
Tag :
  October 10, 2014, 10:47 pm
बहुतदिनों बाद लिख रहा हूँ ...शायद फिर बहुत दिन बाद लिख पाँऊ....जहाँ जा रहा हूँ ,वहाँ इन्टरनेट की प्रोब्लम रहती है ....स्वस्थ रहें !ब्लॉग पर आजकल पतझड़ का मौसम चल रहा है पर उम्मीद अभी बाकी है ????हर पतझड़ के बाद हरियाली आती है लगे दिल पे चोट ,सुकूने ख्वाबो-ख्याली आती है ....,--अशो...
यादें......
Tag :
  August 21, 2014, 3:33 am
आजलगभग तीन महीने होने को हैं ...जब से एक भी पोस्ट नही लिख पाया ...कारण,पिछले काफ़ी दिनों से मेरा डेरा धनोल्टी (मसूरी) में था और वहाँ बी.एस.एन एलइन्टरनेट की अच्छी सुविधा न होने के कारण न चाहते हुए भी ऐसा हो गया .. न कुछ लिख सका .न किसी ब्लॉग पर आप से रु-ब-रु हो सका ...इसके लिए आप...
यादें......
Tag :
  June 23, 2014, 3:33 am
आजमैं अपने जीवन के, ७२ बसंत पुरे कर चूका हूँ, और ७३ वें बसंत में कदम रख रहा हूँ ...सफ़र कहाँ तक है ,कब तक है ,ये भविष्य के गर्भ में छिपा है ...आप से सिर्फ एक बात का इच्छुक हूँ, आप के स्नेह का ,आप की दुआ का ,सिर्फ एक दुआ ...जब तक आप के बीच रहूँ !!! स्वस्थ रहूँ ..दुआ कीजिये ,दिल से कीजिये ...
यादें......
Tag :
  March 27, 2014, 3:33 am
अब मर्ज़ी नही हमारी ...      है अब.. वक्त की बारी !!!सुना करते थे, जीवन में इक दौर ऐसा, भी आता है अकेले, पड़े रहोगे कोने में झाँकने न कोई आता है...अब इंतज़ार रहता है हरदम घर में किसी के आने का , भूले-भटके ही सही... किसी के द्वारा हाल पूछे जाने का.. जब दिल में दर्द होता है ...
यादें......
Tag :
  February 23, 2014, 10:06 am
कैसा है मन, कभी-कभी  ये यूँ भी उदास होता है...सब कुछ है,पास फिर भी खालीपन का अहसास होता है.... ---अशोक'अकेला'यहाँ हर शख्स ......उदास सा क्यों है ???बलाएँ अपनों की लिए जा रहा है  भ्रम के दायरे में जिए जा रहा है खा रहा है अपने ही खून से दगा और खून के घूंट पिए जा रहा है रह-रह के ...
यादें......
Tag :
  January 21, 2014, 10:13 am
काँटों भरी फूलों से सजी .....दुनियां है ये !!!क्यों बैठा उदास ,यूँ हैरान सा क्यों है कुछ तो बता , यूँ परेशान सा क्यों है... गुलों से गुलज़ार था ये चमन तेरा लगता ये आज वीरान सा क्यों है... हमेशा चहल-पहल थी इस डगर पर आज ये रास्ता सुनसान सा क्यों है... क्या न मिला, तुझको इस जहाँ ...
यादें......
Tag :
  December 23, 2013, 3:33 am
वो यादें ......बचपन की !!! ये बातें .....बाद पचपन की !!!कल और आजवो शोखियाँ ,वो मस्तियाँवो शरारतें ,वो खुराफ्तें  वो यादें बचपन की ...ये उदासियाँ ,ये वीरानियाँये बेईमानियाँ, ये शामते ये बातें ,बाद पचपन की ...न खौफ़ था ,न फ़िक्र थीन थी जिम्मेवारियां थी बस बचपन की किलकारियाँवो यादे...
यादें......
Tag :
  December 11, 2013, 1:33 pm
गुज़री यादों में, फिर तू याद आ गया भर आई आँख ,दिल सुकून पा गया... --अशोक'अकेला'यादें हमेशा साथ रहती हैं ,पर नसीब नही होतीं गर याद न करो इनकोतो ये भी करीब नही होतीदिन तो गुज़रा गोरख-धंधों में यादें न करीब होती हैं आती है जब रात अँधेरी नींद करती है आने में देरी दिलो-दि...
यादें......
Tag :
  November 23, 2013, 3:33 am
भ्रम का मारा....ये दिल बेचारा !!! सब जानते-बुझते भ्रम अपने को मैं पालता रहा ..... होंटों पे नकली हंसी चेहरे पे ख़ुशी ओड़ दिल को निहारता रहा ..... जानता था ,भ्रम टूटने से दुखेगा दिल  बस टालता रहा ..... सच! बड़ा दुखता है दिल .भ्रम टूटने से इसी लिए संभालता रहा ..... बार-बार चो...
यादें......
Tag :
  November 10, 2013, 12:42 am
सोच अपनी, समझ अपनी, नज़रिया अपना जिसको जो अच्छा लगता है वो, वो ही करता रहे, सब अच्छा है कोई बुरा न माने ..ये मेरा नज़रिया  है ....ये है ब्लॉग की दुनियां !!!हकीक़त से रूबरू कराएरोतों को हँसना सिखायेसुख-दुःख मिल के बटाएमिल-जुल त्यौहार मनाये गज़ल.गीत नज्में सुनायेज्ञान ...
यादें......
Tag :
  October 26, 2013, 1:53 pm
अपने ज़माने का .....वो बचपन !!!आज भी भूले-भुलाये न भूले  वो बचपनमाँ का दुलारा था वो बचपन आँखों का तारा थावो बचपननानी की गोदी में  गुज़ारा वो बचपनशरारतों से भरपूर था वो बचपनकितना मासूम था वो बचपनकितना निर्दोष था वो बचपनअपनों का प्यारा था वो बचपन बूढों का सह...
यादें......
Tag :
  October 9, 2013, 3:33 am
उनसे प्यार की बात कही नही जाती बेरुखी मुझसे उनकी सही नही जाती---अशोक "अकेला "यह सोच....फिर चुप सा हो गया हूँ मैं !!!  बहुत देखा,बहुत सुना ,बहुत सहा,कुछ न कहाबहुत बहलाया सबकोबहुत फुसलाया सबको  फिर चुप सा हो गया हूँ मैं....न किसी ने देखा न किसी ने भालान किसी ने समझा न किसी ...
यादें......
Tag :
  September 23, 2013, 3:33 am
बड़ा संतुष्ट हूँ ..... मैं अपने जीवन से , इसका मुझे अभिमान है ..कहने को पास कुछ भी नही पर सबसे बड़ी दौलत वो पास मेरा, स्वाभिमान है ...क्या रखा है ,दुनिया की इस अमीरी में ... झूठ,मक्कारी धर्म है, जिस का न कोई, ईमान है... प्यार से मिल के रहें हम सब को सदबुद्धि मिले .मा...
यादें......
Tag :
  September 6, 2013, 3:33 am
वो बातें दिल का ग़ुबार होती हैंजो बातें बयाँ के बाहर होती है---अशोक "अकेला "यादोंकी गठरी खुली और फिर वो ज़माना याद आया ..जब ये गुलाम अली साहब की दर्द भरी ग़ज़ल को गाने का मन करता था .....खूब गुनगुनाया करता था ...जैसे चुपके से कोई सन्देश दे रहा हो किसी अपने को ...अपने दिल की ब...
यादें......
Tag :
  August 29, 2013, 11:08 pm
सोने से पहले, पुकारता हूँ मैं "माँ" कितने पवित्र ये, दो शब्द के बोल हैं सब दुःख दर्द, ये मेरे हर ले जाएँ बोल के परखो, ये इतने अनमोल हैं.... अशोक "अकेला"माँ से मुलाकात ......ख़्वाबों में !!! जब कभी मैं, परेशानी में होता हूँ मैं माँ की, निगेहबानी में होता हूँ सोने से पहले, आ...
यादें......
Tag :
  August 23, 2013, 3:33 am
मेरी जिन्दगी थी बेआसरा तेरे आसरे से पहले .....--अशोक'अकेला'उफ़! न कर तू अब लब सी ले ...मिले ग़र ज़हर का प्याला आँख मूंद उसे पी ले ...जिन्दगी में आयेगे वो मंज़र भी जिसे तू देखना न चाहे याद कर बीते सुहाने पलों को उन पलों में जी ले ...कट जायेगा दिन ढल जाएगी रात आयें आँ...
यादें......
Tag :
  August 3, 2013, 3:33 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3666) कुल पोस्ट (165905)