Hamarivani.com

समर्पण

श्री राधा वाधा हरन, रसिकन  जीवन भूरि।जनम जनम वर माँगहूँ, श्रीपद पंकज धूरि॥श्री कृष्ण शिरोमणि श्रीराधा, जय श्याम  सजीवनि  श्रीराधा।जय रासविलासिनि श्रीराधा, नित्य कुंज  निवासिनि श्रीराधा॥वृन्दावन   रानी   श्रीराधा,  मोहन  मन   मानी  श्रीराधा।ब्रजचन्द्...
समर्पण...
Tag :
  August 3, 2014, 10:58 am
छोटी सी है जिन्दगी, हर बात में खुश रहता हूँ।पास नहीं जो चेहरे, उनकी यादों में खुश रहता हूँ॥मिला जो भी, उसे ईश प्रसाद मान के खुश रहता हूँ।जो मिला नहीं, उसे प्रभु कृपा समझ के खुश रहता हूँ॥कोई रूठा है तो, उसके इस अंदाज पर खुश रहता हूँ।सदा हर गुजरे लम्हों से, सीख लेकर खुश रहता ह...
समर्पण...
Tag :
  May 31, 2014, 9:28 am
जय राधे जय राधे राधे, जय राधे जय श्री राधे।जय कृष्णा जय कृष्णा कृष्णा, जय कृष्णा जय श्री कृष्णा॥श्यामा गौरी नित्य किशोरी, प्रीतम जोरी श्री राधे।रसिक रसिलौ छैल छबीलौ, गुण गर्बीलौ श्री कृष्णा॥रासविहारिनि रसविस्तारिनि, प्रिय उर धारिनि श्री राधे।नव-नवरंगी नवल त्रिभंगी...
समर्पण...
Tag :
  May 23, 2014, 2:39 pm
तू ही तू ही तू ही तो है मेरा नन्दनन्दन।मैं भी मैं भी मैं भी तो हूँ तेरा नन्दनन्दन॥तू ही मेरा तू ही मेरा स्वामी नन्दनन्दन।तू ही मेरा तू ही मेरा सखा नन्दनन्दन॥तू ही मेरा तू ही मेरा सुत नन्दनन्दन।तू ही मेरा तू ही मेरा प्रिय नन्दनन्दन।तू ही मेरी गति-मति रति नन्दनन्दन।तेरे...
समर्पण...
Tag :
  May 21, 2014, 6:56 am
वृन्दावन के बांके बिहारी, हमसे पर्दा करो ना मुरारी॥वृन्दावन के बांके बिहारी, हमसे पर्दा करो ना मुरारी॥हम तुम्हारे पराये नहीं हैं, गैर के दर पे आये नहीं हैं।हम तुम्हारे पुराने पुजारी, हमसे पर्दा करो ना मुरारी॥हरिदास के राज दुलारे, नन्द यशोदा के आखोँ के तारे।राधा के सा...
समर्पण...
Tag :
  May 17, 2014, 9:38 am
तुम रूठे रहो मोहन हम तुम्हें मना लेंगे।आहों में असर होगा घर बेठे बुला लेंगे॥तुम तो कहते हो मोहन हमें मधुवन प्यारा है। एक बार तो आ जाओ मधुवन ही बना लेंगे॥तुम तो कहते हो मोहन हमें राधा प्यारी है।एक बार तो आ जाओ राधा से मिला लेंगे॥तुम तो कहते हो मोहन हमें माखन प्यारा है।एक...
समर्पण...
Tag :
  May 13, 2014, 3:06 pm
मतवारी प्यारी चाल, मेरो यशोदा को लाल।जाके घुंघरवारे बाल, मेरो यशोदा को लाल॥जाके लोचन रसाल, मेरो यशोदा को लाल।मेरो प्यारो नंदलाल, मेरो मदन गुपाल।मतवारी प्यारी चाल, मेरो यशोदा को लाल॥मैं तो है गई मालामाल, मेरो यशोदा को लाल।मेरो जीवन गुपाल, मेरो प्यारो नंदलाल।मतवारी प्...
समर्पण...
Tag :
  May 12, 2014, 10:31 am
हे कान्हा मैं तो तेरी हो गयी।तेरी हो गयी, बस तो तेरी हो गयी॥ यमुना किनारे मेरी लडी थी नजरिया,काँटों में उलझ गयी मेरी चुनरिया।फूलों को छोड़ मैं तो कांटो से उलझ गयी,हे कान्हा मैं तो तेरी हो गयी॥जहर का प्याला राणा मीरा को दिया,पल में प्रभु जी तूने अमृत बना दिया।मीरा दुनिया...
समर्पण...
Tag :
  May 7, 2014, 9:29 am
जग मे सुंदर हैं दो नाम, चाहे कृष्ण कहो या राम।बोलो राम राम राम, बोलो शाम शाम श्याम॥माखन बृज मे एक चुरावे, एक बेर भीलनी के खावे।प्रेम भावः से भरे अनोखे, दोनों के है काम॥चाहे कृष्ण कहो या राम।बोलो राम राम राम, बोलो शाम शाम श्याम॥ एक कंस पापी को मारे, एक दुष्ट रावण संहारे।द...
समर्पण...
Tag :
  May 3, 2014, 9:40 am
प्रभु नाम की लगी लगन, तन के आंगन में दीप जले।जब से तुम आये मोहन, मन के उपवन में फूल खिले॥नीरस हर पल था जीवन, इक पग चलना भी था दूभर,काम क्रोध मद लोभ लुटेरे, अनेक जन्म के बैरी मिले।जब से तुम आये मोहन, मन के उपवन में फूल खिले॥क्षितिज पर रहती थी नज़र, इंद्रधनुष रूप आते थे नज़र,अधर...
समर्पण...
Tag :
  December 1, 2011, 12:23 pm
तन को स्वयं न समझ रे,यह माटी में मिल जाना है।चार कांधों की करके सवारी,ढ़ोल बाजे संग जाना है॥उड़ जायेगा हँस अकेला,तन तो माटी बन जाना है।राधे-कृष्ण निष्काम भज ले,इक दिन यहाँ से जाना है॥मात-पिता का कहा मानकर,नियत कर्तव्य निभाना है।गुरु वचनों पर श्रद्धा रखकर,कृष्णा में ध्य...
समर्पण...
Tag :
  April 25, 2011, 7:43 pm
जल बिना सागर नहीं होता,सागर बिना सीप नहीं होती।सीप बिना मोती नहीं होता, मोती बिना माला नहीं होती॥माला बिना जप नहीं होता,जप बिना प्यार नहीं होता।प्यार बिना जग नहीं होता,प्रेम बिना जीवन नहीं होता॥सत्य बिना सत्संग नहीं होता,सत्संग बिना अज्ञान नहीं मिटता।अज्ञान बिना मि...
समर्पण...
Tag :
  April 9, 2011, 10:49 am
मच गयी हलचल होरी की,और चलने लगी पिचकारी।अबीर गुलाल रंगत टेसू की,और केसर की महकारी॥सुध-बुध बिसर गयी तन की,रसिया ऎसी केसर घोरी।तन-मन मेरो ऎसो भीगो,जब मैं पिया संग खेली होरी॥हिय में मारी ऎसी पिचकारी,मली मुख कपोलन रोरी।अलकन लाल पलकन लाल,तन-मन लाल भयो री॥प्रेम के रंग में हुई...
समर्पण...
Tag :
  March 20, 2011, 9:18 am
छोड़ के सारे बन्धन जग के,कृष्णा से प्रीत लगा ले।गोविन्द के गुण गा ले,मनवा गोपाल के गुण गा ले॥भुगत लिये सुख-दुख जग के,सभी अरमान निकाले।अब भी समय है मूरख वन्दे,जी भर कर पछता ले॥यहाँ सभी को मिलते धोखे,किन-किन से पड़ते पाले॥गोविन्द के गुण गा ले,मनवा गोपाल के गुण गा ले॥जगत के ...
समर्पण...
Tag :
  March 11, 2011, 2:15 pm
अंधेरे से निकलकर चांदनी में नहाकर तो देखो।जिन्दगी क्या है कभी आवरण हटाकर तो देखो॥कौन है अपना कृष्णा से दिल लगाकर तो देखो॥ उपवन महकता हैं जैसे जीवन भी महक उठेगा।कन्हैया का नाम दिल से पुकार कर तो देखो॥कौन है अपना कृष्णा से दिल लगाकर तो देखो॥ कृष्ण सितारा है चमकता रहेगा ...
समर्पण...
Tag :
  March 9, 2011, 12:59 pm
न यह मेरा है न तेरा है,यह जग तो रैन बसेरा है।जो भी चाहे जैसा समझे,अब कृष्णा ही तो मेरा है॥जाने कितनी ठोकर खाकर,मुश्किल से राहें मिलती हैं,मंज़िल पाकर राही कहता,यही मुकाम तो मेरा है।जो भी चाहे जैसा समझे,अब कृष्णा ही तो मेरा है॥सागर से ही बूँदें बनकर,सागर में ही मिल जाती है...
समर्पण...
Tag :
  March 4, 2011, 12:04 pm
सांवरी सूरत मोहिनी मूरत के,कितने रूप दिखा गया कृष्णा।कभी प्रेमी कभी सारथी बन,गुरु का धर्म निभा गया कृष्णा॥विराट रूप दिखाकर ब्रह्माण्ड के,हर लोक में छा गया कृष्णा।छोटा रूप बनाकर यशोदा की, गोद में समा गया कृष्णा॥चोरी छुपे अटारी पर चढ़कर,चोरी से माखन खा गया कृष्णा।कभी ...
समर्पण...
Tag :
  February 22, 2011, 2:02 pm
मैं अपने जज्बातों को कभी सजा नहीं देता हूँ,अंधेरा होने पर चिरागों को न बुझने देता हूँ।जब कभी दिल को कहीं सुकून नहीं मिलता,तो मुख से नाम कृष्णा का लेकर भुला देता हूँ।आँसुओ को दुनियाँ के लिये न कभी बहाता हूँ,दिल की हर बात किसी को न कभी बताता हूँ।अश्रु तो बहते हैं तो अपने कृ...
समर्पण...
Tag :
  February 13, 2011, 12:24 pm
गोविन्द गोपाल गाता चल,कृष्णा से प्रीत बढ़ाता चल।हम सब राही प्रेम डगर के,सब पर प्यार लुटाता चल॥बिना प्रेम के चले न कोई,बचपन बुढापा या जवानी,चाहे सुराई नई उम्र की,चाहे मटकी कोई हो पुरानी।भक्ति पथ पर चलना तुझको,मुस्कुरा कर चलता चल,गोविन्द गोपाल गाता चल,कृष्णा से प्रीत बढ...
समर्पण...
Tag :
  February 10, 2011, 11:18 am
श्य़ाम-राधे कोई ना कहता,कहते सभी राधे-श्य़ाम।जन्म-जन्म के भाग जगा दे,राधा का एक नाम॥राधा बिना श्य़ाम है आधा,गाते रहना राधे-श्य़ाम।बोलो राधामाधव गिरधारी,बोलो राधे-राधे श्य़ाम॥बिन माला जैसे मोती,बिन दीपक जैसे ज्योति।चंदा बिना चाँदनी कैसी,बिन सूरज धूप न होती॥बिन राधा ...
समर्पण...
Tag :
  February 8, 2011, 7:09 pm
प्रभु का मन में ध्यान रहेगा,राधे का जुबां पर नाम रहेगा,संचार होगा कृष्ण भक्ति का,तन का सफ़र आसान रहेगा।न मैं रहुंगा न मेरा रहेगा,मगर नाम प्रभु का सदा रहेगा॥जितना कम सामान रहेगा,जीवन का सफ़र आसान रहेगा,जितनी भारी कामना की गठरी,उतना ही तू हैरान रहेगा।न हम रहेंगे न हमारा र...
समर्पण...
Tag :
  February 3, 2011, 1:05 pm
जीवन के हर पल में,प्रभु नाम का सहारा होगा,जग में किसी के लिये,कभी कोई पराया न होगा।सभी के मन के आंगन में,चांदनी का प्रकाश होगा,तब एक दिन ऎसा होगा,जब कान्हा ही हमारा होगा॥हमेशा दूसरों के लिये हमें,मोतीयों को चुनना होगा,हर दिल को हमेशा हमें,प्रेम जल से सींचना होगा।काम मुश्...
समर्पण...
Tag :
  February 2, 2011, 12:00 pm
कान्हा की छवि अति प्यारी है,श्याम रंग की शोभा न्यारी है।उस रूप सुधारस से मन का,प्याला भर देंगे कभी न कभी।राधा के मनमोहन घनश्याम,प्रभु कृपा करेंगे कभी न कभी॥जो दीनों के परम धाम हैं,जो केवट और सबरी के धाम है।ऎसा रूप बनाकर उस घर में,जा ठहरेंगे हम कभी न कभी।मीरा के गिरधर गोप...
समर्पण...
Tag :
  January 25, 2011, 7:53 am
कृष्ण नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊँ गली गली।लेलो रे कोई मोहन का प्यारा, शोर मचाऊँ गली गली॥माया के दीवानों सुन लो, एक दिन ऐसा आएगा।धन दौलत और माल खजाना, यहीं पड़ा रहा जाएगा॥सुन्दर काया माटी होगी, चरचा होगी गली गली।लेलो रे कोई मोहन का प्यारा, शोर मचाऊँ गली गली॥क्यों करता ह...
समर्पण...
Tag :
  January 24, 2011, 10:14 am
श्याम नाम के साबुन से, जो मन का मैल छुड़ायेंगे।निर्मल मन के दर्पण में, वह कृष्ण का दर्शन पायेंगे॥हर प्राणी में कृष्ण बसे हैं, क्षण भर हम से दूर नहीं।देख सके न इन आँखों से, इन आँखों में नूर नहीं॥देंखे वह मन मन्दिर में, जो प्रेम की ज्योति जलायेंगे।निर्मल मन के दर्पण में, वह ...
समर्पण...
Tag :
  January 23, 2011, 3:19 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167897)