Hamarivani.com

उच्चारण

“Under the greenwood tree”BY WILLIAM SHAKESPEAREहरे पेड़ के नीचे(अनुवादक-डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)भावानुवादहरे पेड़ के नीचेरहकर हरियाली मेंमीठे सुर में गीत सुनाकर साथ परिन्दों केकौन रहेगा मीत यहाँ परकौन बनेगाबनकर बन प्यारावही रहेगामधुर-मधुर गायेगास्वर भरके जो गीत यहाँ परआओ खु...
Tag :विलियम शेक्सपियर
  January 19, 2019, 6:31 pm
पाई है कुन्दन कुसुमों नेकुमुद-कमलिनी जैसी काया।आकर सबसे पहलेसेमल ने ऋतुराज सजाया।।महावृक्ष है सेमल का यह,खिली हुई है डाली-डाली।हरे-हरे फूलों के मुँह पर,छाई है बसन्त की लाली।।सर्दी के कारण जब तन में,शीत-वात का रोग सताता।सेमलडोढे की सब्जी से,दर्द अंग का है मिट ज...
Tag :सेमल ने बसन्त चहकाया
  January 18, 2019, 5:45 pm
"टुकड़ा" (Fragment' a poem by Amy Lowell)  अनुवादक-डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'कविता क्या है?♥ काव्यानुवाद ♥कविता रंग-बिरंगे, मोहक पाषाणों सी होती है क्या?जिसे सँवारा गया मनोरम, रंग-रूप में नया-नया!!हर हालत में निज सुन्दरता से, सबके मन को भरना!ऐसा लगता है शीशे को, सिखा दिया हो श्रम करना!!इन...
Tag :अनुवाद
  January 17, 2019, 4:07 pm
Beauty  by  John Masefield अनुवादक- डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'सौंदर्य जॉन मेसफील्डप्रातःकालीन वेला मेंऔरसायंकालसूर्यास्त के समयपहाड़ियों की उत्तुंग चोटी परसमीरअपना मस्त राग गा रहा हैऐसा प्रतीत होता हैमानो स्पेनअपनी पुरानीसुरीली धुनों को छेड़ रहा हो!बसन्त ऋतु में...
Tag :अनुवाद
  January 16, 2019, 6:13 pm
 सन-सन शीतल चला पवन,सरदी ने रंग जमाया।ओढ़ चदरिया कुहरे की,सूरज नभ में शर्माया।।जलते कहीं अलाव, सेंकता बदन कहीं है कालू,कोई भूनता शकरकन्द को, कोई भूनता आलू,दादा जी ने अपने तनपर,कम्बल है लिपटाया।ओढ़ चदरिया कुहरे की,सूरज नभ में शर्माया।।जितने वस्त्र लपेटो, उतना ही ठण्...
Tag :सरदी ने रंग जमाया
  January 15, 2019, 5:33 pm
सूर्य उत्तरायण हुआ, हुआ शीत का अन्त।दिवस बड़े होने लगे, सिर पर खड़ा बसन्त।।कुदरत ने हमको दिया, षड्-ऋतुओं का दान।लगे पहनने खेत अब, पीताम्बर परिधान।।निर्मल अब होने लगा, दिन-प्रतिदिन आकाश।दस्तक अब देने लगा, जीवन में मधुमास।।खुली गुनगुनी धूप है, नभ में उगा दिवेश।सरसों अब ...
Tag :सिर पर खड़ा बसन्त
  January 14, 2019, 7:34 pm
आई फिर से लोहिड़ी, लेकर नवल उमंग।अब फिर से बजने लगे, ढोलक और मृदंग।।आयी फिर से लोहड़ी, देने को सौगात।कम होगा अब देश में, जाड़े का उत्पात।।पर्व लोहिड़ी का यही, देता है सन्देश।मानवता अपनाइए, सुधरेगा परिवेश।।प्रेम और सद् भाव से, बन जाते हैं काज।मूँगफली औ' रे...
Tag :दोहे
  January 13, 2019, 7:21 am
उत्तरायणी पर्व को, ले आया नववर्ष।तन-मन में सबके भरा, कितना नूतन हर्ष।१।--आया है उल्लास का, उत्तरायणी पर्व।झूम रहे आनन्द में, सुर-मानव-गन्धर्व।२।--जल में डुबकी लगाकर, पावन करो शरीर।नदियों में बहता यहाँ, पावन निर्मल नीर।३।--जीवन में उल्लास के, बहुत निराले ढंग।बलखाती आकाश ...
Tag :दोहे
  January 13, 2019, 7:11 am
नये साल का आगमन, लाया है सौगात।पर्व लोहड़ी में करो, सबसे मीठी बात।।--कुदरत ने हमको दिया, षड् ऋतुओं का दान।खेतों ने पहना हुआ, पीताम्बर परिधान।--मास जनवरी में हुआ, परबत पर हिमपात।मूँगफली औ’ रेबड़ी, की बाँटो सौगात।।--सरदी में अच्छा लगे, खिचड़ी का आहार।तिल के लड़डू खाइए, कहत...
Tag :दोहे
  January 12, 2019, 6:54 am
साहित्य की विधा"क्षणिका"    क्षणिका को जानने पहले यह जानना आवश्यक है कि क्षणिका क्या होती है? मेरे विचार से “क्षण की अनुभूति को चुटीले शब्दों में पिरोकर परोसना ही क्षणिका होती है। अर्थात् मन में उपजे गहन विचार को थोड़े से शब्दों में इस प्रकार बाँधना कि कलम से निकले...
Tag :
  January 11, 2019, 7:30 am
दो हजार छः से मिला, हिन्दी को उपहार।आज विश्व हिन्दी दिवस, मना रहा संसार।।--हिन्दी है सबसे सरल, मान गया संसार।वैज्ञानिकता से भरा, हिन्दी का भण्डार।।--दुनिया में हिन्दीदिवस, भारत की है शान।सारे जग में बन गयी, हिन्दी की पहचान।।--चारों तरफ मची हुई, अब हिन्दी की धूम।भारतवासी श...
Tag :मान गया संसार
  January 10, 2019, 7:39 am
मैने जब उनसे कहा, बोलो मैं हूँ कौन।नयनों ने उत्तर दिया, शब्द हो गये मौन।।अधर जहाँ खुलते नहीं, वहाँ बोलते नैन।दिल से दिल मिलता जहाँ, वहाँ रहे सुख-चैन।।बन्द कभी मत कीजिए, आशाओं के द्वार।सुख रहता उस नीड़ में, जहाँ बरसता प्यार।।तानाशाही से नहीं, चलता है परिवार।सन्तानो...
Tag :वहाँ बोलते नैन
  January 9, 2019, 8:18 am
दोहा छोटा छन्द है, करता भारी मार।सीधे-सादे शब्द ही, करते सीधा वार।।--चार चरण दो पंक्तियाँ, दोहे का संधान।तुलसी और कबीर ने, सबको बाँटा ज्ञान।।--बिना भूमिका के कहो, अपने मन की बात।दोहों में ही निहित है, जीवन की सौगात।।--सन्तों के दोहे करें, मन के दूर विकार।सरल-तरल इस छन्द में, ...
Tag :दोहे
  January 8, 2019, 6:37 am
आयेगा अच्छा समय, सोच रहे हैं लोग।किन्तु नहीं कम हो सका, अभी शीत का योग।।मकर राशि में शीघ्र ही, आयेंगे आदित्य।तब जग में छा जायगा, बासन्ती लालित्य।।माघ मास के बाद में, सुख देंगे भगवान।बढ़ जायेगा देश में, तब दिन का दिनमान।।शुरू हो रहा कुम्भ भी, संगम में इस साल।लोग चल पड़े कु...
Tag :बासन्ती लालित्य
  January 7, 2019, 6:36 pm
श्वेत कुहासा-बादल काले।मौसम के हैं ढंग निराले।।भुवन भास्कर भी सर्दी में,ओढ़ रजाई सो जाता है,तन झुलसानेवाला उसका,रौद्ररूप भी खो जाता है,सर्द हवाओं के झोंको ने,तेवर सब ढीले कर डाले।मौसम के हैं ढंग निराले।।जैसे ही होली जल जाती,मास चैत्र का आ जाता है,तब निर्मल नभ की गोदी म...
Tag :सर्द हवाओं के झोंके
  January 6, 2019, 4:50 pm
पूरा दिन बालप्रहरी के नाम       हमारे नगर खटीमा में उत्तराखण्ड बाल कल्याण संस्थान के तत्वावधान में बाल प्रहरी की कार्यशाला थारू राजकीय इण्डर कालेज, खटीमा के सभागार में एक जनवरी से चार जनवरी तक चली। जिसको अल्मौड़ा से पधारे बालप्रहरी के सम्पादक श्रीमान उदय किर...
Tag :रपट
  January 5, 2019, 5:14 pm
सब कुछ वही पुराना सा है!कैसे नूतन सृजन करूँ मैं?कभी चाँदनी-कभी अँधेरा,लगा रहे सब अपना फेरा,जग झंझावातों का डेरा,असुरों ने मन्दिर को घेरा,देवालय में भीतर जाकर,कैसे अपना भजन करूँ मैं?कैसे नूतन सृजन करूँ मैं?वो ही राग-वही है गाना,लाऊँ कहाँ से नया तराना,पथ तो है जाना-पहचाना,ल...
Tag :गीत
  January 4, 2019, 3:52 pm
मम्मी देखो मेरी डॉल।खेल रही है यह तो बॉल।।पढ़ना-लिखना इसे न आता।खेल-खेलना बहुत सुहाता।।कॉपी-पुस्तक इसे दिलाना।विद्यालय में नाम लिखाना।।रोज सवेरे मैं गुड़िया को,ए.बी.सी.डी. सिखलाऊँगी।अपने साथ इसे भी मैं तो,विद्यालय में ले जाऊँगी।।यह भी तो मेरे जैसी ही,भोली-भाली सच्च...
Tag :प्रकाशन
  January 3, 2019, 2:59 pm
सुख का सूरज नहीं गगन में।कुहरा पसरा आज वतन में।।पाला पड़ता, शीत बरसता,सर्दी में है बदन ठिठुरता,तन ढकने को वस्त्र न पूरे,निर्धनता में जीवन मरता,पौधे मुरझाये गुलशन में।कुहरा पसरा आज वतन में।।आपाधापी और वितण्डा,बिना गैस के चूल्हा ठण्डा,गइया-जंगल नजर न आते,पायें कहाँ से ल...
Tag :प्रकाशन
  January 2, 2019, 12:04 pm
कल थी इकत्तीस तारीख आज हैपहली तारीखकल भी थासूरज उगाआज भी उगापूरे परिवार नेकल भी थानाश्ता कियाआज भी कियाकल भी भोजन मेंदाल-भात, सब्जी -रोटी थी आज भी वही हैजो दिनचर्या कल थीआज भी वही हैसब कुछ पुराना सा ही तो हैकल भी सुपुत्रकरते थे माँ-बाप कीसेवा और सम्मानऔर कुपुत्रआज भी क...
Tag :नया साल आया है
  January 1, 2019, 3:35 pm
पलभर में ही हो गया, गया साल इतिहास।नये साल से बहुत कुछ, लोग लगाते आस।।मंगल से उन्वान है, मंगलमय नववर्ष।नये साल का हो गया, मंगल से उत्कर्ष।।होंगे नूतन वर्ष में, देशों से अनुबन्ध।अब विकास के क्षेत्र में, पनपेंगे सम्बन्ध।।भारत के सब नागरिक, माँगें सबकी खैर।नहीं चाहते किस...
Tag :मंगलमय नववर्ष
  December 31, 2018, 5:41 pm
बाहरवालों की कभी, मत करना मनुहार।सुख-दुख दोनों में करें, घरवाले ही प्यार।।देश और परदेश हो, या अपनी सरकार।सभी जगह कर्तव्य से, मिलते हैं अधिकार।।जैसे मन में आपके, होंगे भरे विचार।मिल जायेगा आपको, वैसा ही संसार।।दुनिया में धन-मान की, सबको है दरकार।सब अपने गुण-ज्ञान का, लगा...
Tag :दोहे
  December 30, 2018, 12:50 pm
मौसम का पहला कुहरासिर्फ दो दिन शेष हैंआने में नया साललेकिन आज पहली बारकुहरे ने दस्तक दे दीऔर बिगाड़ दियेमौसम के हालयही तो हैकुदरत का कमालजिसके कारणजन-जीवन हो गया बदहालअनायास ही बदन में बढ़ गयी ठिठुरनअंग-अंग में होने लगी कम्पनबच्चों और बूढ़ों के दाँत बजने लगेघरों और ...
Tag :नये साल की दस्तक
  December 29, 2018, 3:54 pm
तीन ताल पर थिरकते, बजा रहे हैं गाल।मक्कारों की थी लगी, जगह-जगह चौपाल।।पानी कैसा भी रहे, गलती इनकी दाल।आज राम के देश में, हैं सब जगह दलाल।।रहते थे जिस ताल में, करते वहाँ बबाल।घड़ियालों ने कर दिये, सारे मैले ताल।।खिला मुफ्त के माल को, खास रहे हैं पाल।इसीलिए तालाब में, छिप...
Tag :शुभ हो नूतन साल
  December 28, 2018, 5:28 pm
गुलदस्ते में हैं सजे, सुन्दर-सुन्दर फूल।सुमनों सा जीवन जियें, बैर-भाव को भूल।१।शस्य-श्यामला है धरा, जीवन का आधार।पेड़ लगा कर हम करें, धरती का शृंगार।२।जनमानस पर कर रहे, कोटि-कोटि अहसान।सबका भरते पेट हैं, ये श्रमवीर किसान।३।मातृभूमि पर हो रहे, जो सैनिक बलिदान।माँ के सच...
Tag :दोहे
  December 27, 2018, 3:00 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3845) कुल पोस्ट (185801)