Hamarivani.com

उच्चारण

वजन भजन में कम हुआ, गजल हो गयी पास।भजन कहाँ लव-लीन की, बुझा सकेंगे प्यास।।कुछ को दौलत का नशा, कोई मद में चूर।आशिक होते हैं सदा, लोकलाज से दूर।।लुभा रहा जसलीन को, मखमल का कालीन।दौलत पाने के लिए, आतुर लव में लीन।।झूठा प्यार-दुलार है,मतलब का है खेल।जीवन जीने के लिए, चढ़ी...
Tag :दोहे
  September 23, 2018, 9:47 am
बहुत घिनौनी कर रहा, हरकत पाकिस्तान।सीना छप्पन इंच का, दिखला दो श्रीमान।।सम्मुख पाकिस्तान के, क्यों होते मजबूर।आतंकी नापाक का, कर दो दूर गुरूर।।सम्बन्धों के तार जब, सभी गये हैं टूट।बैरी पाकिस्तान को, फिर क्यों देते छूट।।जितनी की थीं सन्धियाँ, सभी करो अब भंग।दब्बू बनन...
Tag :दोहे
  September 22, 2018, 3:49 pm
त्यौहारों की धूम मची है,पर्व नया-नित आता है।परम्पराओं-मान्यताओं की,हमको याद दिलाता है।।उत्सव हैं उल्लास जगाते,सूने मन के उपवन में,खिल जाते हैं सुमन बसन्ती,उर के उजड़े मधुवन में,जीवन जीने की अभिलाषा,को फिर से पनपाता है।परम्पराओं-मान्यताओं की,हमको याद दिलाता ...
Tag :गीत
  September 21, 2018, 10:17 am
लटक रहे हैं कबर में, जिनके दोनों पाँव।साठ साल के बाद वो, चले इश्क के दाँव।।कल तक जो शागिर्द थी, रूपवती जसलीन।पत्नी बनी अनूप की, होकर अब लवलीन।।नहीं युवतियों से निभें, बुड्ढों के सम्बन्ध।मतलब से होते यहाँ, दौलत के अनुबन्ध।।हुआ कलेवर खोखला, झूठा सारा खेल।बुड्ढे और जवान क...
Tag :बुड्ढों के अनुबन्ध
  September 20, 2018, 10:36 am
खिल उठे फिर से वही सुन्दर सुमन।छँट गये बादल हुआ निर्मल गगन।।उष्ण मौसम का गिरा कुछ आज पारा,हो गयी सामान्य अब नदियों की धारा,नीर से, आओ करें हम आचमन।रात लम्बी हो गयी अब हो गये छोटे दिवस,सूर्य की गर्मी घटी, मिटने लगी तन की उमस,सुख हमें बाँटती, मन्द-शीतल पवन।अर्चना-पूजा की चह...
Tag :हुआ निर्मल गगन
  September 19, 2018, 6:00 am
मास्साब मत पकड़ो कान।है जुकाम से बहुत थकान।।सरदी से ठिठुरे हैं हाथ।नहीं दे रहे कुछ भी साथ।।नभ में छाये काले बादल।भरा हुआ जिनमें शीतल जल।।आज नहीं लिखने की मर्जी।सेवा में भेजी है अर्जी।।दया करो हे कृपानिधान!छुट्टी दे दो अब श्रीमान।।जल्दी से अब घर जाऊँगा।चाय-...
Tag :बालकविता
  September 16, 2018, 7:04 pm
 आषाढ़ से आकाश अब तक रो रहा है।बादलों को इस बरस क्या हो रहा है? आज पानी बन गया जंजाल है,भूख से पंछी हुए बेहाल हैं,रश्मियों को सूर्य अपनी खो रहा है।बादलों को इस बरस क्या हो रहा है? कब तलक नौका चलाएँ मेह में,भर गया पानी गली और गेह में,इन्द्र जल-कल खोल बेसुध सो रहा है...
Tag :धान खेतों में लरजकर पक गया है
  September 16, 2018, 12:17 pm
जलने को परवाना आतुर, आशा के दीप जलाओ तो।कब से बैठा प्यासा चातुर, गगरी से जल छलकाओ तो।। मधुवन में महक समाई है, कलियों में यौवन सा छाया,मस्ती में दीवाना होकर, भँवरा उपवन में मँडराया,मन झूम रहा होकर व्याकुल, तुम पंखुरिया फैलाओ तो।कब से बैठा प्यासा चा...
Tag :गीत
  September 15, 2018, 4:04 pm
जलने को परवाना आतुर, आशा के दीप जलाओ तो।कब से बैठा प्यासा चातुर, गगरी से जल छलकाओ तो।। मधुवन में महक समाई है, कलियों में यौवन सा छाया,मस्ती में दीवाना होकर, भँवरा उपवन में मँडराया,मन झूम रहा होकर व्याकुल, तुम पंखुरिया फैलाओ तो।कब से बैठा प्यासा चा...
Tag :गीत
  September 15, 2018, 4:04 pm
गौरय्या का नीड़, चील-कौओं ने है हथियायाहलो-हाय का पाठ हमारे बच्चों को सिखलायाजाल बिछाया अपना, छीनी है हिन्दी की बिन्दी अपने घर में हुई परायी, अपनी भाषा हिन्दीखोटे सिक्के से लोगों के मन को है बहलायाहिन्दीभाषा से हमने, भारत स्वाधीन करायाहिन्दी में भाषण करके, सत्ता ...
Tag :हिन्दी की बिन्दी
  September 14, 2018, 3:58 pm
हिन्दी के महलों में, अँगरेजी रानी।हिन्द का अतीत, आज बन गया कहानी।।फूल और फल रहे, देश में सुरालयलूट रहे लाज को आज खुद हयालयनित्य क्यों दरक रहे, सन्तरी हिमालय बन्द होते जा रहे, हिन्दी के विद्यालयव्याकरण से हो रही खूब छेड़खानी। हिन्द का अतीत, आज बन गया कहानी।।नहीं रहा सु...
Tag :व्याकरण से हो रही खूब छेड़खानी
  September 14, 2018, 12:19 pm
विघ्नविनाशक आप हो, सभी गणों के ईश।पूजा करते आपकी, सुर-नर और मुनीश।।--सबसे पहले आपकी, पूजा होती देव।सबकी रक्षा कीजिए, जय-जय गणपतिदेव।।--करता है आराधना, मन से सकल समाज।बिना आपके तो नहीं, होता मंगल काज।।--दीपों के त्यौहार में, होता दिव्य निवेश।घर में लाते हैं सभी, लक्ष्मी और ग...
Tag :सभी गणों के ईश
  September 13, 2018, 5:43 pm
तोड़ दीजिए मिथक सब, भाषा करे पुकार।हिन्दी को दे दीजिए, अब उसका अधिकार।।ओ काशी के सांसद, संसद के शिरमौर।विदा करो अब देश से, अँगरेजी का दौर।। है कठिनाई कौन सी, क्यों हो अब लाचार।पूरे बहुमत की मिली, तुमको है सरकार।।हिन्दी-हिन्दुस्थान हो, जिस दल का आधार।हिन्दी को दे दीज...
Tag :हिन्दी करे पुकार
  September 13, 2018, 12:30 am
जो वर माँगे थे विधना से,पूरे सब वरदान हो गये।नितिन तुम्हारे आ जाने सेपूरे सब अरमान हो गये।।घर-आँगनरूपी उपवन में,मुरझाये सब सुमन खिल गये।नीरस जीवन सरस हो गया,सब अनुपम उपहार मिल गये।धूल उड़ाते खेत हमारे,वासन्ती उद्यान हो गये।नितिन तुम्हारे आ जाने से,पूरे सब अरमान हो गय...
Tag :ज्येष्ठ पुत्र का जन्मदिन
  September 12, 2018, 12:48 pm
आज मेरे देश को क्या हो गया है?मख़मली परिवेश को क्या हो गया है?पुष्प-कलिकाओं पे भँवरे, रात-दिन मँडरा रहे,बागवाँ बनकर लुटेरे, वाटिका को खा रहे,सत्य के उपदेश को क्या हो गया है?मख़मली परिवेश को क्या हो गया है?धर्म-मज़हब का हमारे देश में सम्मान है,जियो-जीने दो, यही तो कुदर...
Tag :गीत
  September 11, 2018, 4:48 pm
सम्बन्धों की दुनिया में,अनुबन्धों की मत बात करो।सपने कब अपने होते हैं,सपनों की मत बात करो।।लक्ष्य नहीं हो जिन राहों में,कभी न उन पर कदम धरो,जिनसे औंधे मुँह गिर जाओ,ऐसी नहीं उड़ान भरो,रंग-बिरंगी इस दुनिया में,मत कोई उत्पात करो।सपने कब अपने होते हैं,सपनों की मत बात करो।।अ...
Tag :गीत
  September 10, 2018, 11:35 am
सम्बन्धों की दुनिया में,अनुबन्धों की मत बात करो।सपने कब अपने होते हैं,सपनों की मत बात करो।।लक्ष्य नहीं हो जिन राहों में,कभी न उन पर कदम धरो,जिनसे औंधे मुँह गिर जाओ,ऐसी नहीं उड़ान भरो,रंग-बिरंगी इस दुनिया में,मत कोई उत्पात करो।सपने कब अपने होते हैं,सपनों की मत बात करो।।अ...
Tag :गीत
  September 10, 2018, 11:35 am
घुमाकर बात को करना, समय की अब नजाकत हैभले ही बात हो वजनी, मगर उसमें सियासत हैछुरी को जब मिले मौका, हमेशा वार करती हैछुरी मीठी हो या कड़वी, छिपी उसमें कयामत हैबगीचा सींचना होगा, सभी को नेह के जल सेयहाँ जनतन्त्र है जिन्दा, नहीं कोई रियासत है लगे प्रतिबन्ध हों कितने, बशर ...
Tag :हिमाकत में निजामत है
  September 9, 2018, 10:30 am
भारत के वर्चस्व का, कैसे हो आभास। अपनी भाषा के बिना, मन हो रहा उदास।। हिन्दी करती रही है, सबसे यही सवाल।अब तक भी क्यों  खून में, आया नहीं उबाल।। सात दशक से अधिक से,  हम सब हैं आजाद।किन्तु सितम्बर मास में, हिन्दी आती याद।।थोथी-थोथी सी लगें, सरकारी तकरीर।कैसे न...
Tag :सरकारी तकरीर
  September 8, 2018, 10:16 am
कितने ही वट वृक्ष थे, तब भी दल में शेष।अनुभवहीन-अयोग्य क्यों, फिर बन गया विशेष।।जन-गण ने युवराज को, बिल्कुल दिया नकार।इसीलिए तो देश में, बदल गयी सरकार।।वंशवाद के दंश को, झेल न पाया देश।बदल सियासत का दिया, जनता ने परिवेश।।संसद में कमजोर है, अब तो बहुत विपक्ष।इसीलिए मनमान...
Tag :मँहगाई पर कोई नहीं लगाम
  September 7, 2018, 12:23 pm
सिसक-सिसक कर स्लेट जी रही,तख्ती ने दम तोड़ दिया है।सुन्दर लेख-सुलेख नहीं है,कलम टाट का छोड़ दिया है।।  दादी कहती एक कहानी,बीत गई सभ्यता पुरानी,लकड़ी की पाटी होती थी,बची न उसकी कोई निशानी।।फाउण्टेन-पेन गायब हैं,जेल पेन फल-फूल रहे हैं।रीत पुरानी भूल रहे हैं,नवयुग में स...
Tag :प्रकाशन
  September 6, 2018, 11:13 am
ओम् जय शिक्षा दाता, जय-जय शिक्षा दाता।जो जन तुमको ध्याता, पार उतर जाता।। तुम शिष्यों के सम्बल, तुम ज्ञानी-ध्यानी।संस्कार-सद्गुण को गुरु ही सिखलाता।। कृपा तुम्हारी पाकर, धन्य हुआ सेवक।मन ही मन में गुरुवर, तुमको हूँ ध्याता।। कृष्ण-सुदामा जैसे, गुरुकुल में आते।राज...
Tag :गुरुदेव का वन्दन
  September 5, 2018, 7:38 am
ऊँची दूकानफीका पकवानआज के युग मेंबिकता है ज्ञानयही तो हैशिक्षा की पहचानविद्याएँ लुप्तप्रायःछात्र कहाँ जायेंशिक्षा का शोरट्यूशन का जोरसजी हैं दूकानेंलोग लगे हैं कमाने-खानेगुरू गायबविद्यालयों की भरमारजगत-गुरू केअच्छे नही हैं आसारजोर-शोर से मनाइएसम्मान लुटाइएज...
Tag :शिक्षक दिवस
  September 4, 2018, 10:04 am
मित्रों !      कल दिनांक 2 सितम्बर, 2018 को मेरे 40 साल पुराने मित्र स्व. टीकाराम पाण्डेय 'एकाकी'की पाँचवीं पुण्यतिथि पर उनका भावपूर्ण स्मरण करते हुए काव्यमयी श्रद्धांजलि समर्पित की गयी। जिसका आयोजन उनके सुपुत्र रवीन्द्र पाण्डेय "पपीहा"ने अपने शिक्षण संस्थान "ग्लोरियस ...
Tag :स्व. टीकाराम पाण्डेय 'एकाकी' की पाँचवीं पुण्यतिथि
  September 3, 2018, 12:55 pm
योगिराज का जन्मदिन, मना रहा संसार।हे मनमोहन देश में, फिर से लो अवतार।।सुनने को आतुर सभी, बंसी की झंकार।मोहन आओ धरा पर, भारत रहा पुकार।।श्री कृष्ण भगवान ने, दूर किया अज्ञान।युद्ध भूमि में पार्थ को, दिया अनोखा ज्ञान।।भारत के वर्चस्व का, जिससे हो आभास।लगता वो ही ग्रन्थ त...
Tag :योगिराज का जन्मदिन
  September 2, 2018, 10:14 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3807) कुल पोस्ट (180911)