Hamarivani.com

ये वक्त गुजर जायेगा

हमारी दर्द की चीखें भला अब कौन सुनता है, ये बस्ती पत्थरों की हो गयी है आजकल लोगों।। ------------------------ यहां हर ओर लाखों लोग बेहद खूबसूरत हैं, न जाने कौन है वो शख्श जिसकी हम जरूरत हैं।।----------------------- अगर बादल तुम्हारा है तो ये धरती हमारी है, वफ़ा की राह में हर पल मुहब्बत ही तो हारी है, अगर त...
ये वक्त गुजर जायेगा...
Tag :
  May 27, 2012, 10:28 pm
हमारी दर्द की चीखें भला अब कौन सुनता है, ये बस्ती पत्थरों की हो गयी है आजकल लोगों।। यहां हर ओर लाखों लोग बेहद खूबसूरत हैं, न जाने कौन है वो शख्श जिसकी हम जरूरत हैं।। अगर बादल तुम्हारा है तो ये धरती हमारी है, वफ़ा की राह में हर पल मुहब्बत ही तो हारी है, अगर तुम हो शहंशाहे हसीं...
ये वक्त गुजर जायेगा...
Tag :
  May 26, 2012, 1:42 am
-  अतुल कुशवाह मैनें जब भी देखा है एक छोटे बच्चे के तबस्सुम की तरहपुरानी चीजों को विदा कर दिया तूने,तू पुरानी से नई हो गईदरख्तों के जंगल जला दिएइमारतों का हिसार खड़ा करकेचारो तरफ बेशुमार चेहरेतुझमें आने को, तुझसे जाने कोयहाँ एक-दो नहीं हजार मोहरेअब रह ही क्या गया हैइन ...
ये वक्त गुजर जायेगा...
Tag :atul kushwah
  January 14, 2012, 3:10 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163572)