Hamarivani.com

कथा-सागर

                        समर घर से निकला तो पत्नी और बच्चों के लिए गिफ्ट पहले ही खरीदता हुआ होटल पहुंचा था।  रात में प्रोग्राम ख़त्म करके सीधे घर भागेगा क्योंकि कई साल से वह बच्चों के साथ नए साल का स्वागत नहीं कर पाया है।  आज उसने बच्चों से ...
कथा-सागर...
Tag :
  December 31, 2016, 11:14 pm
                  माँ   तीन दिनों से बेटी के फ़ोन का इन्तजार कर रही थी और फ़ोन नहीं आ रहा था।  नवजात के साथ व्यस्त होगी सोचकर वह खुद भी नहीं कर पाती थी।  एक दिन उससे नहीं रहा गया और बेटी को फ़ोन किया  - 'बेटा कई दिन हो गए तेरी आवाज नहीं सुनी , कैसी हो ?''...
कथा-सागर...
Tag :
  December 29, 2016, 4:38 pm
                                    आज इरा अपने बेटे की नौकरी लगने के उपलक्ष्य में एक छोटी सी पार्टी दे रही थी।  इस दिन को लाने में उसने अपने जीवन के २४ साल होम कर दिए।  इतने वर्ष तो उसने अपने पति की बुराइयों के बीच उसकी ज्या...
कथा-सागर...
Tag :
  December 23, 2016, 2:42 pm
                        रानू जब से माँ बनने की ओर बढ़ी है , रोज ही कुछ न कुछ परेशानियां उसको लगी रहती थीं तो परेशान होकर नौकरी छोड़ने का फैसला कर लिया और घर में रहने लगी।  वह घर में अकेली ही रहती थी लेकिन ऋषिन को उसकी चिंता अपने ऑफिस में लगी रह...
कथा-सागर...
Tag :
  December 23, 2016, 2:41 pm
 पूर्वकथा : सावित्री अपने मइके या ससुराल दोनों में दुलारी थी। घर में लक्ष्मी मानी  जाती। उसका पति समझदार और जिम्मेदार युवक था। छोटे भाई की संगती के बिगड़ने से चिंतित रहता और उसके इस बात के लिए रोकने पर उसके साथ कुछ ऐसा बुरा हुआ कि  कई जिन्दगी इसमें पिसने लगी । शशिधर क...
कथा-सागर...
Tag :
  July 21, 2012, 5:37 pm
पूर्व कथा :                        सावित्री अपने मइके या ससुराल दोनों में दुलारी थी। घर में लक्ष्मी मानी  जाती। उसका पति समझदार और जिम्मेदार युवक था। छोटे भाई की संगती के बिगड़ने से चिंतित रहता और उसके इसा बात के लिए रोकने पर उसके साथ कुछ ऐसा बुरा हुआ की कई जिन्दगी इसमें पिसने ...
कथा-सागर...
Tag :
  July 2, 2012, 4:20 pm
पूर्व कथा :                  सावित्री अपने मइके या ससुराल दोनों में दुलारी थी। घर में लक्ष्मी मानी  जाती। उसका पति समझदार और जिम्मेदार युवक था। छोटे भाई की संगती के बिगड़ने से चिंतित रहता और उसके इसा बात के लिए रोकने पर उसके साथ कुछ ऐसा बुरा हुआ की कई जिन्दगी इसमें पिसने ला। श...
कथा-सागर...
Tag :
  June 19, 2012, 6:03 pm
पूर्वकथा : नीतूकीबुआसावित्रीबचपनमेंहीशादीकरदी।सातभाइयोंकीइकलौतीबहनऔरससुरालमेंभीलक्ष्मीमानीजातीथी।पतिशशिधरसमझदारयुवकमिलाथ।एकएककरकेबेटोंकीमाँबनीलेकिनशायदकीनजरलगगयीऔरउसकेआवाराहोगएऔरवहीकीबर्बादीकाकारणबननेलगेसाथसावित्रीकेभाग्यपरग्रहणबनगए।गत...
कथा-सागर...
Tag :
  June 12, 2012, 3:46 pm
                              पूरेमोहल्लेमेंयहखबरबिजलीकीतरहसेफैलगयीकिबनारसमेंनीतूकेफूफाजीकाअचानक निधनहोगया। मोहल्लेकेबड़ेबुजुर्गोंनेतोउनकाबचपनभीदेखाथाऔरफिरव्याह, बच्चेसभीकुछतोसबके सामनेहुआकिन्तुसावित्रीजैसाभा...
कथा-सागर...
Tag :
  June 10, 2012, 1:54 pm
पूर्व  कथा:             राशि अपने ६ माह के बेटे को लेकर अपने पिता के घर चली आई थी और फिर उसके बाद वह अपने पति के पास  कभी नहीं गयी. ये बात उसके बेटे ने अपने जीवन में पिता की kami को देख कर महसूस किया की उसे दोनों का ही प्यार की जरूरत है लेकिन उसके मान के अहम्  के आगे कभी संभव  नहीं हो...
कथा-सागर...
Tag :
  April 26, 2012, 4:43 pm
...
कथा-सागर...
Tag :
  April 14, 2012, 3:42 pm
पूर्व कथा : छः माह के बेटे को लेकर राशि अपनी माँ के घर आ गयी थी और फिर यही उसका निधन भी हुआ बेटे को अपने पास रख कर उसने सोचा कि वह जीत गयी लेकिन अपनी झूठे अहंकार के चलाते वह उसे स्वीकार न कर सकी जिसको उसे करना चाहिए था। उसने झुकाना नहीं सीखा था और पाती ने हालात से समझौता करन...
कथा-सागर...
Tag :kahani with copy right
  March 25, 2012, 8:48 pm
पूर्व कथा:राशि के निधन पर उसके पति के आगमन पर पड़ोसियों ने प्रश्न चिह्न पर विराम लगाती है उसकी बहन निधि। राशि २० साल पहले अपने ६ माह के बेटे को लेकर पिता के घर आ गयी थी और बेटा पिता शब्द के साथ जुड़ा ये न समझ पा रहा था कि उसके पिता क्यों उसके साथ नहीं रहते हें। माँ से झिड़की क...
कथा-सागर...
Tag :कहानी with copy right
  March 6, 2012, 8:55 pm
राशिनहीं रही, अभी उसके जाने की उम्र नहीं थी लेकिन शायद वह इतनी ही उम्र लेकर आई थी। इसी शहर में पैदा हुई पढ़ी लिखी और ब्याह कर अपने पति के घर गयी लेकिन कुछ ऐसा लेख लिखा था कि वह अंतिम समय फिर अपनी जन्म भूमि पर आकर ही धरती छोड़ कर चली गयी। वह ससुराल से एक बेटे को लेकर वापस आई थी औ...
कथा-सागर...
Tag :कहानी सर्वाधिकार सुरक्षित
  March 2, 2012, 2:02 pm
पूर्वकथा : निमिषाएकअसामान्यशारीरिकसंरचनाकाशिकारलड़की , जोआईआईटीसेअंग्रेजीमेंपीएचडीकररहीथी।अपनीइसकमजोरीकेकरणउसेउपहासकापात्रबनायाकरतेथेलोग।समाजकिदृष्टिसेऐसीलड़कीसेकौनशादीकरेगा? इसकाभविष्यक्याहोगाकिन्तुवहअपनीइसीकमजोरीपरविजयपानेकेलिएकटिबद्धथी...
कथा-सागर...
Tag :
  May 23, 2011, 8:57 pm
कुछहीदिनपहलेवहमुझेनर्सिंगहोमकिलिफ्टमेंटकरागयी। एकलम्बेअरसेबादमिली। सारीचीजेंवहीलेकिनबसचेहरेसेउम्रझलकनेलगीथीऔरहोभीक्योंनकरीब१९वर्षकेलम्बेअंतरालकेबादवहमुझेमिलीथी।इसबीचकभीउसकीकोईसहेलीमिलगयीऔरजिक्रहुआतोकुछसमाचारउसकामिलतारहा , बसइतनाजानतीथीक...
कथा-सागर...
Tag :
  May 23, 2011, 12:36 pm
पूर्व कथा:एकधनी परिवार की बेटी और धनी परिवार की बहू अनु पारिवारिक षड़यंत्र का शिकार हुई। बच्चों सहित कई साल मायके रही औरजब लाया गया टो घर में नहीं घुसने दिया गया। कुछ दिन चाचा के घर रही और फिर वापस मायके। एक परित्यक्ता के दुःख को भोगा उसने, ज़माने वालों की बातें सही उसन...
कथा-सागर...
Tag :
  May 16, 2011, 8:55 pm
पिछलेदिनोंजबमैंदिल्लीमेंथीतोवहपरेशानथी, कारणोंसेतोमैंवाकिफथीऔरएकबारउसकोसमझाकरभीआईथीलेकिनयेमनोभावकबक्याकरबैठेंनहींजानते? दिल्लीमेंहीउसकेपतिकाफ़ोनआयाथाकिआपआजाइयेऔरअनुकोसमझादीजिये।मैंक्याकरती? फ़ोनसेकितनासमझायाजासकताहै? जबमैंवापसआईतोघरऔरऑफिस...
कथा-सागर...
Tag :
  May 16, 2011, 2:28 pm
पूर्वकथा: आशु एक डी एम का बेटा , जो अपनी माँ के निधन के बाद नाना नानी के यहाँ रहा। अपनी पहली पोस्टिंग वाली जगह पर सौतेले भाई से मिला , खून के रिश्ते ने उसको मजबूर कर दिया कि वह उसके लिए कुछ करे , नितिन का भविष्य बनने के लिए अपनी ओर से प्रयास किये और अपनी दूसरी पोस्टिंग वाली जग...
कथा-सागर...
Tag :
  February 9, 2011, 7:50 pm
                          पूर्वकथा :                आशु एक डी एम का बेटा जो अपनी माँ की मौत के बाद नाना नानी के घर पला . पिता और सौतेली माँ के एक्सीडेंट में निधन के बाद उसने खुद पापा की तरह आई ए एस बनने का संकल्प लिया   पहली पोस्टिंग वाले बंगले...
कथा-सागर...
Tag :
  January 31, 2011, 8:54 pm
   पूर्वकथा :                आशु एक डी एम का बेटा जो अपनी माँ की मौत के बाद नाना नानी के घर पला . पिता और सौतेली माँ के एक्सीडेंट में निधन के बाद उसने खुद पापा की तरह आई ए एस बनने का संकल्प लिया   पहली पोस्टिंग वाले बंगले में मिला उसे अपना सौतेला भाई,  ...
कथा-सागर...
Tag :
  December 14, 2010, 5:57 pm
      पूर्वकथा :                आशु एक डी एम का बेटा जो अपनी माँ की मौत के बाद नाना नानी के घर पला . पिता और सौतेली माँ के एक्सीडेंट में निधन के बाद उसने खुद पापा की तरह आई ए एस बनने का संकल्प लिया   पहली पोस्टिंग वाले बंगले में मिला उसे अपना सौतेला भ...
कथा-सागर...
Tag :kahani with copy right
  November 18, 2010, 11:56 am
            पिछला  कथा सारांश    --                                           आशु एक डी एम का बेटा जो अपनी माँ की मौत के बाद नाना नानी के घर पला और फिर पिता की दूसरी शादी ने उससे उसके पिता को भी दूर कर दि...
कथा-सागर...
Tag :
  November 1, 2010, 6:54 pm
पिछला  कथा सारांश    --                                           आशु एक डी एम का बेटा जो अपनी माँ की मौत के बाद नाना नानी के घर पला और फिर पिता की दूसरी शादी ने उससे उसके पिता को भी दूर कर दिया. अपने पापा को बहुत मिस क...
कथा-सागर...
Tag :
  October 28, 2010, 12:49 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163613)