Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
दिल की आवाज़ : View Blog Posts
Hamarivani.com

दिल की आवाज़

सबसे बड़ा अपराधी अपने आसपास जब नजर दौड़ाता हूँ तो हमें सबसे बड़ा अपराधी के रूप में पुलिस वाले ही दिखाई पड़ते हैं। ये पुलिस वाले चौक चौराहा पर गाड़ी वाले, ऑIटो वाले से नाजायज  पैसे वसूल करते हैं, ये ऑटो पर सवार होकर एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाते हैं पर ऑटो वाले को किराया...
दिल की आवाज़...
Tag :अपराध
  July 1, 2017, 5:25 pm
नमस्कार।कुछ दिन पहले 14 फरवरी 2017 को मैं 4 दिन के एक नवजात शिशु के लिए रक्तदान किया। इससे पहले भी मैं 2 बार जरूरतमंद मरीज के लिए रक्तदान कर चूका हूँ। यह मेरा तीसरा रक्तदान था।कब किसको किस तरह की जरुरत पड़ जाती है यह नहीं कहा जा सकता है। खुन के कमी के कारण, ऑपरेशन में, दुर्घटना म...
दिल की आवाज़...
Tag :जातिवाद
  February 17, 2017, 11:51 am
अपराधियों के लिए सुरक्षित स्थान : जेल  इस लिंक http://www.hindi.indiasamvad.co.in/…/8-members-of-banned-si…पर सवाल उठाया गया है कि मुठभेड़ में मारे गए 8 आंतकियो के पास कहां से आए ब्रांडेड जींस टीशर्ट, मंहगी घड़ी, स्पोर्टस शूज़ ? आगे कहा गया है कि लगता है कि यह जेलखाना नहीं बल्कि आतंकियों के ऐशगाह के रूप मे...
दिल की आवाज़...
Tag :अपराध
  November 5, 2016, 11:41 pm
चाइनीज सामानों का बहिष्कार क्यों?नमस्कार.कल दिवाली का पर्व मनाया जाने वाला है. कितने लोग इस पर्व पर खासकर चाइनीज सामानों का बहिष्कार कर रहे हैं. और वे चाइनीज पटाखा व झालर न खरीदने पक्ष में हैं. वे लोग इस दिवाली के बाहर भी चाइनीज सामान न खरीदने के लिए अभियान चला रहे हैं. प...
दिल की आवाज़...
Tag :चाइनीज समान
  October 30, 2016, 9:42 am
दुष्कर्म व बलात्कार बनाम हमारा समाज आज लिंग भेद समाप्त कर महिलाओं को पुरुषों के समान दर्जा व हक दिलाने की बात कही जा रही है। भले ही कानून द्वारा महिलाओं को पुरुष के समान दर्जा मिल गया हो पर निचली स्तर पर हमारे समाज में आज भी महिलाएँ पुरुषों के अपेक्षा काफी निम्न स्तर का...
दिल की आवाज़...
Tag :दुष्कर्म
  September 30, 2015, 6:31 pm
बुरा वक्त का अच्छा संदेश वक्त पर होती है पहचान कि दोस्त कैसा है वक्त पर पर होती है पहचान कि कौन कैसा है वक्त पर होती है पहचान दोस्त की वक्त पर होती है पहचान अपनों की यदि बुरा वक्त न आए तो न होगी इनकी सही पहचान बुरा वक्त में ही होती है इनकी सही पहचान अतः ...
दिल की आवाज़...
Tag :बूरा वक्त
  September 26, 2015, 5:58 pm
क्या मेला के आयोजक आय व व्यय के डिटेल्स सार्वजनिक कर सकते हैं?कल मैं पटना पुस्तक मेला 2014 के व्यवस्था पर जो सवाल उठाया था उसे आज दैनिक भास्कर के DB स्टार के पृष्ट 2 पर प्रकाशित किया गया है. मामला को समाचार पत्र में स्थान देने के लिये दैनिक भास्कर परिवार को धन्यवाद. http://epaper.bhaskar....
दिल की आवाज़...
Tag :अव्यवस्था
  November 11, 2014, 7:44 pm
21वीं पटना पुस्तक मेला 2014 : व्यवस्था या व्यवस्था के नाम पर ठगी पटना के गांधी मैदान में CRD (Centre For Readership Development) (http://www.crdindia.org/) के तरफ से 21वीं पुस्तक मेला का आयोजन किया गया है जो 07.11.2014 से 18.11.2014 तक है. कल 09.11.2014 को मैं भी पुस्तक मेला घुमने गया. पर मेला में प्रवेश से पहले से ही असुविधा नजर आने ल...
दिल की आवाज़...
Tag :अव्यवस्था
  November 10, 2014, 6:41 pm
मीना व उसकी माँदिवालीकेदिनशामसेहीबंटीअपनेदोस्तोंकेसाथपटाखेछोड़नेवमौजमनानेमेंलगाथा। घरमेंमाँबेटीमीनाकेसाथमेहमानोंकेआवभगतमेंलगीथी। जोभीदीपावलीकीशुभकामनादेनेवमिलनेआतेथेउन्हेंघरमेंबनेपकवानवथोड़ासामिठाईसेमुँहमीठाकरायाजाताथा। काफीदेरतकमेहमानों...
दिल की आवाज़...
Tag :घरेलू हिंसा
  March 6, 2014, 2:57 pm
नेता------थे कभी गरीब इंसान।नेता बन हुए धनवान॥छोटा सा घर महल में बदला।घुमने के लिए कार आया॥भूल गए जन हित की बातें।पर अवैध वसूली कभी न भूलते॥क्षेत्र विकास के पैसे अपने घर में हैं लगाते।गरीब जनता को और भी अधिक हैं सताते॥बने हैं नेता जबसे।पैसे ही पहचानते तबसे॥नहीं पहचानत...
दिल की आवाज़...
Tag :नेता
  March 4, 2014, 6:16 pm
दीपावली की शुभकामना सबों को दीपावली की ढ़ेर सारी शुभकामनाएँ...
दिल की आवाज़...
Tag :दीपावली
  November 2, 2013, 5:24 pm
बलात्कार या अन्य अपराध पर सजा पर मेरा निजी विचार31.12.2012  को मैं justice.verma@nic.inको मैं बलात्कार या अन्य अपराध पर सजा पर अपना निजी विचार e-mail से लिखा था उसे मैं यहाँ हुबहू दे रहा हूँ. पाठक अपना विचार दें. -----------------MAHESH KUMAR Verma 31 December 2012 11:13 To: justice.verma@nic.in महेश कुमार वर्माWebpage : http://popularindia.blogspot.inE-mail ID : vermamahesh7@gmail.com ...
दिल की आवाज़...
Tag :अत्याचार
  August 23, 2013, 12:09 pm
होली : शुभकामना, निवेदन व अपीलसबों को पवित्र होली की ढ़ेर सारी शुभकामनाएँ।पवित्र होली प्रेम व आपसी भाईचारा का पर्व है अतः इसे प्रेम व भाईचारा का ही पर्व रहने दें। इसे किसी विवाद व शत्रुता का बदला लेने का पर्व न बनाएँ। तथा सभी तरह का वैर व कटुता का भाव भुलाकर आपसी प्रेम-...
दिल की आवाज़...
Tag :होली
  March 25, 2013, 1:20 pm
होली : शुभकामना व निवेदन सबों को पवित्र होली की ढ़ेर सारी शुभकामनाएँ।पवित्र होली प्रेम व आपसी भाईचारा का पर्व है अतः इसे प्रेम व भाईचारा का ही पर्व रहने दें। इसे किसी विवाद व शत्रुता का बदला लेने का पर्व न बनाएँ। किसी के साथ जोर-जबरदस्ती नहीं करें। जबरन किसी को रंग या ...
दिल की आवाज़...
Tag :होली
  March 25, 2013, 12:09 pm
जिंदा हूँ सब जानते हैं जिंदा हूँ सब जानते हैं पर मर गया ऐसा वो मानते हैंया मेरे लिएअपने को मृत समझते हैंइसीलिए तो मुझसे दूरी बनाये रहते हैंजिंदा हूँ सब जानते हैं पर मर गया ऐसा वो मानते हैंमैं तो कई बार मरके भी जिंदा हूँपर तुम तो जिंदा रहके भी मृत होमैँ जिंदा हूँ तुम...
दिल की आवाज़...
Tag :कविता
  March 21, 2013, 4:12 pm
छत्तीस साल पहले छत्तीस साल पहले आज ही के दिन मेरी माँ ने मुझे दिया था जन्म पर आज जिंदा रहके भी दोनों को मिला है मरण क्योंकि दुनियाँ वालों ने दोनों को एक-दुसरे से छिना फिर मारने की धमकी के कारण माँ ने मुझसे मिलना  छोड़ा था मैं उनतीस का और आज हूँ मैं छत्तीस का सात साल बी...
दिल की आवाज़...
Tag :कविता
  March 21, 2013, 10:38 am
जागो बहनामैं अपने देश के तमाम बहनों से आग्रह करना चाहूँगा कि वे महिला प्रताड़ना के विरुद्ध आवाज उठाएं।देश के बहना जागोतुम मानव होतुममे बुद्धि-विवेक हैतुम्हारी चुप्पी ही तुम्हें दबाती हैअतः अपने बुद्धि-विवेक का इस्तेमाल करोअन्याय के विरुद्ध लड़ोसमाज से महिला प्रत...
दिल की आवाज़...
Tag :महिला
  March 8, 2013, 11:01 am
मुझे छोड़ के कहाँ तुम चली गयी?मुझे छोड़ के कहाँ तुम चली गयी न कोई पत्र न कोई मेसेज न कोई संवाद न कोई फोन छोड़ के क्यों तुम चली गयी मुझे छोड़ के कहाँ तुम चली गयीकब तक लेगी तुम मेरे प्यार की परीक्षाआखिर क्या है तुम्हारी इच्छा जाना ही था तो प्रेम पूर्वक कह देती पर इतना कष्ट तुम म...
दिल की आवाज़...
Tag :प्यार
  February 26, 2013, 9:39 am
भारतीय गणतंत्र के 63 वर्षमित्रों,कुछ दिन बाद राष्ट्र 64वाँ गणतंत्र दिवस मनाएगा। भारतीय गणतंत्र के 63 वर्ष हो गए पर यह कहना गलत नहीं होगा कि आज भी आम लोग नारकीय जीवन जी रहे हैं। ये पग-पग पर जुल्म व अन्याय के शोषण हो रहे हैं  आज ये न तो सुरक्षित हैं न तो इन्हें उचित न्याय ही म...
दिल की आवाज़...
Tag :भारतमाता
  January 10, 2013, 2:38 pm
भारतीय गणतंत्र के 64 वर्षमित्रों,कुछ दिन बाद राष्ट्र 64वाँ गणतंत्र दिवस मनाएगा। भारतीय गणतंत्र के 64 वर्ष हो गए पर यह कहना गलत नहीं होगा कि आज भी आम लोग नारकीय जीवन जी रहे हैं। ये पग-पग पर जुल्म व अन्याय के शोषण हो रहे हैं  आज ये न तो सुरक्षित हैं न तो इन्हें उचित न्याय ही म...
दिल की आवाज़...
Tag :भारतमाता
  January 10, 2013, 2:38 pm
 महिला हूँ तो क्या हुआमहिला हूँ तो क्या हुआमैं भी मानव हूँ मुझमें भी दिल व दिमाग हैमुझमें भी साहस व शक्ति है अब तक सहती रहीबहुत सही अत्याचार पर अब न सहूंगी अब न सहूंगी -- महेश कुमार वर्मा ...
दिल की आवाज़...
Tag :महिला
  December 30, 2012, 5:16 pm
 मुझे जन्म ही लेने क्यों दिया आज उस समय मेरे आँखों में आंसू आ गए जब मैंने देखा की लडकियां असुरक्षा के कारण खुद को गर्भ में ही मार देने की बात उठाई। जी हाँ, 16.12.2012 के दिल्ली के सामूहिक दुष्कर्म और फिर पीड़िता की मौत को लेकर पटना के कारगिल चौक पर लोग शोक में मौन रखे। साथ ही न्य...
दिल की आवाज़...
Tag :महिला
  December 30, 2012, 4:16 pm
 महिलाओं को उसके गर्भ में पल रहे भ्रूण के लिंग जानने का अधिकार मिलना चाहिएआज लोग सूचना का अधिकार व जानकारी प्राप्त करने का अधिकार को बढावा दे रहे हैं। बात भी सही है लोगों को यह अधिकार मिलना चाहिए। सभी लोग इस बात से सहमत होंगे कि हमें अपने देश के बारे में, अपने समाज के ब...
दिल की आवाज़...
Tag :महिला
  November 24, 2012, 10:05 am
मैं खुश रहूँ या न रहूँ, आप सब खुश रहेंआज दिवाली का दिन है। लोग खुशियाँ मना रहे हैं। पर मुझमें कोई ख़ुशी नहीं है। वैसे मेरी ख़ुशी तो कब ही मुझसे दूर हो गयी है ............................. पर ..................... आज जैसा लग रहा है कि मैं सारा चीज खो गया हूँ   .................. पर किसे कहूँ मैं अपनी बात ........................ कोई तो...
दिल की आवाज़...
Tag :दिवाली
  November 13, 2012, 5:28 pm
इंदिरा गांधी को गोली क्यों मारी गयीआज ३१ अक्टूबर है. २८ वर्ष पहले आज ही के दिन तात्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी आतंकी ने गोली मारकर उन्हें मार डाला था. मेरे जीवन में भी वह दिन बहुत ही महवपूर्ण था क्योंकि उस दिन मैं दिन-रात रोते रहा था पर मुझे मेरे प्रश्न का ...
दिल की आवाज़...
Tag :याद
  October 31, 2012, 8:56 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3710) कुल पोस्ट (171496)