Hamarivani.com

लाईफ मज़ेदार...

एक सभा में घमासान मचा हुआ था कोई भी सदस्य किसी अन्य को सुनने के तैयार ही नहीं था. बस सब अपनी अपनी सुनाने में जुटे थे. सभा कोई भी दिशा नहीं पकड़ पा रही थी. सभा की यह दशा देख कर सभापति बहुत ही परेशान हो उठे. फिर उन्हें एक उपाय सूझा, उन्होंंने सभी सदस्यो को एक खेल खेलने के लिये रा...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Social Behaviour
  August 27, 2016, 9:39 pm
 एक किसान का घोड़ा बीमार हो गया. वह उठ भी नहीं पा रहा था. किसान ने डॉक्टर बुलाया और घोड़े को दिखाया. डॉक्टर ने दवाई देते हुये कहा कि यह दवाई अगले तीन दिन तक घोड़े को खिलाईये देखते हैं इसे कितना फायदा होता है. अगर फायदा नहीं होता है तो फिर इसे मारना ही होगा नहीं तो इसका संक्रमण द...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :
  June 19, 2015, 8:25 pm
जब आप नौकरी पर पहली बार जाते हैं तो प्राम्भिक दिनों में आपका अधिकारी आपकी क्षमताओं का आकलन करता है. अधिकारी का भरोसा जीतें यह आपकी प्राथमिकता की सूची में पहला कार्य होना चाहिये. कोई न कोई ऐसे कार्य में आपकी कुशलता होने चाहिये कि जब भी उस कार्य की बात आये तो अधिकारी सिर्...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :
  September 8, 2014, 11:08 pm
सरकारी नौकरी से सेवानिवृत्त शर्माजी का लड़का अपनी पत्नी और दुधमुँहे बच्चे को ले कर घर छोड़ कर जा रहा था. शर्माजी ने अपने लड़के को मनाने की बहुत कोशिश की पर लड़के ने एक ना सुनी. पिता ने अपने प्यार का वास्ता देते हुये कहा ‘बेटा मैंने और तुम्हारी माँ ने कितने लाड़ प्यार से तुम्हे...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :
  August 16, 2014, 12:59 pm
हमारे पिता के अभिन्न मित्र, रीवा विश्वविद्यालय के कुलपति, परम विद्वान राठौर अंकल घर पधारे हुए थे. उनके सानिध्यका भरपूरलाभ उठाने के इरादे से हमने उनसे पूछा की मेहेर बाबा अगर मौन न रख कर बोलते होतेतो हम कितना कुछ उनसे सीख पाते. यह बात सुनते ही राठौर अंकल ने यह घटना सुनाई...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :
  August 27, 2012, 6:31 pm
द्रौपदी अपने सभी सगे सम्बन्धियों से निराश हो चुकी थीं कोई भी उनकी मदद को आगे नहीं आ रहा था. धृटराष्ट्र और भीष्मपितामह  जैसे आदरणीय पुरुष भी नहीं. सभी के पास अपने अपने कारण थे. बेबस द्रौपदी क्या करती. उसके पास अब सिर्फ एक ही सहारा रह गया था. अपने भाई कृष्ण का सहारा. द्रौपदी ...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Krishna
  May 8, 2011, 5:54 pm
अभी पिछले दिनों रीवा में आर्ट ओफ लिविंग का शिविर सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ. आज से दूसरा शिविर प्रारम्भ हुआ. तुषार गुरुजी शिविर के पहले दिन के समापन के बाद हमारे ऑफिस पधारे. समय पाकर सानिध्य हुआ. आपने दो साधुओं की बड़ी ही अच्छी कहानी सुनाई. मन करता है आप सब के साथ भी बाँटॆं-...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Shri Shri Ravishankar Ji
  March 26, 2011, 8:29 pm
आहार का प्रमुख कार्य भूख मिटाना तथा पौष्टिक तत्व प्रदान करना है. थोड़ी समझदारी तथा सावधानी पूर्वक भोजन पकाया जाये तो अधिक पोषक तत्व हमारे शरीर को प्राप्त होंगे. भोजन पकाने में निम्नलिखित सावधानियाँ बरतें:1.    उचित मात्रा में पानी लेकर दाल पकायें.2.            जिस पानी मे...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :
  December 21, 2010, 6:50 pm
संत शिरोमणि श्री 108 श्री विद्यासागर महारज जी कुछ दिनों पहले सागर (म.प्र.) में चल रहे जैन समाज के एक भव्य किंतु सादगी भरे अध्यात्मिक आयोजन “पंचकल्याणक” में संत शिरोमणि श्री 108 विद्यासागर महाराज के प्रवचन सुनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ. कर्मफल की व्याख्या करते हुये आपने कहा...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :
  November 24, 2010, 8:14 pm
 बात चालीस के दशक की है, जब मेरे पिता प्रोफैसर सुरेन्द्र वर्मा आर्य, इलाहाबाद एग्रीकल्चरल इंस्टिट्युट में एग्रीकल्चरल इंजीनीयरिंग की डिग्री कर रहे थे. उस समय न्यू हॉस्टल एग्रीलल्चरल इंजीनीरिंग ...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Allahabad Agricultural Institute
  August 24, 2010, 7:57 pm
...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Attitude
  August 8, 2010, 5:38 pm
तीन युवा पेड़, आपस में दोस्त, एक जंगल में रहा करते थे. बहुत खुश अपने में मग्न. एक दिन एक पेड़ ने बाकी दोनों से पूछा कि तुम दोनों के क्या सपने हैं? पहले ने कहा कि मेरा सपना है कि जब मुझे काटा जाये तो मुझसे एक खजाने का बक्स बनाया जाये जिसमें शहंशाओं, बादशाहों,रानी महारानीओं के ...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Jesus
  December 16, 2009, 9:10 pm
...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Attitude
  November 19, 2009, 6:51 pm
...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :
  November 19, 2009, 6:45 pm
शादी के अवसर पर बड़ा जोश -ओ-खरोश का माहौल था. एक बिल्ली थी की मानने का नाम ही नहीं ले रही थी. मौका पा कर बार-बार दूध-दही की ओर लपक रही थी. परेशान हो कर घर के ही एक ज़िम्मेदार सदस्य ने बिल्ली को पकड़ कर उसके चारों पैर बाँध दिये. शादी धूम धाम से सम्पन्न हुई. बाद में इस बिल्ली के भी हाथ ...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Learnings
  November 16, 2009, 7:07 pm
+2-1=+1 (पुनर्जन्म)-2+1= -1 (पुनर्जन्म)(+) + (-) = 0 (मुक्ति, मोक्ष, ईश्वर प्रप्ति) उपरोक्त समीकरण में धनाकत्मक चिन्ह सत्कर्मों का परिचायक है और ऋणात्मक चिन्ह दुष्कर्मों का परिचायक है. एक आम व्यक्ति अपने जीवन में सद्भाव से जो कर्म करता है वे सत्मकर्म और जो कर्म दुर्भाव से करते हैं वे दु...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Meher Baba
  November 12, 2009, 9:19 pm
सदगुरु रामक़ृष्ण परमहंस जी “मेरी मर्ज़ी सर्वोपरी या खुदा की...”  प्रश्न का उत्तर देते हुए कहते हैं कि इस प्रश्न का जवाब खूँटी से बँधी गाय के उद्धारण से समझा जा सकता है. इंसान खूँटी में बँधी गाय के समान है. उसकी मर्ज़ी का दाय्ररा सिर्फ वहीँ तक है जितनी लम्बी रस्सी है. रस्सी की ...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Meher Baba
  November 9, 2009, 7:34 pm
...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Job Exploitation
  November 7, 2009, 12:38 pm
एक दिन एक कुत्ता जंगल में रास्ता भूल गया। तभी उसने देखा, एक शेर उसकी तरफ बढ़ा आ रहा है। कुत्ते की जान सूख गई, उसने सोचा आज तो काम तमाम हुआ मेरा।   अचानक कुत्ते की निगाह सामने पड़ी सूखी हड्डियों पर पड़ी, देखते ही कुत्ते के मन में विचार कौंधा । उसने यूं जाहिर किया मानो शेर को ...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Panchatantra Stories
  October 18, 2009, 6:02 pm
...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :
  September 28, 2009, 3:18 pm
...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Food
  September 25, 2009, 7:25 pm
एक मेहनती खरगोश दिन भर कमर-तोड़ मेहनत करने के बाद अपनी सासों पर काबू पाने की कोशिश कर रहा था. तभी उसने सामने के पेड़ की फुनगी पर मस्ती से बैठे कौए को सीटी बजाते हुए देखा. खरगोश को बड़ा आश्चर्य हुआ. उसने कौये से पूछा “ क्या तुम्हें कोई काम करने की ज़रूरत नहीं पड़ता?” कौये ने कहा “...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Attitude
  September 12, 2009, 2:37 pm
कथा एक के कौये से इस कहानी का नायक मुर्गा भी प्रेरित हो गया. इस मुर्गे ने भी मन ही मन तय किया कि वह कौए की तरह ही पेड़ की फुनगी पर जा कर बैठेगा. और अब बाँग देगा तो सिर्फ वहीं से. उसने कूद लगायी तो पहली शाखा तक भी नहीं पहुँच सका। बेचारा मुर्गा निराश हो गया। व्हीं से एक बुल (बैल) ...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Attitude
  September 9, 2009, 6:43 pm
एक चिड़िया आसमान में उड़ रही थी कि अचानक भारी बर्फबारी शुरू हो गयी. चिड़िया बर्फ में दब गयी। ठंड के मारे उसकी हालत खराब होने लगी कि अचानक वहाँ से कथा दो का पात्र बैल वहाँ से गुज़रा और जहाँ चिड़िया दबी थी वहाँ गोबर कर दिया. गोबर की गर्मी से चिड़िया को बहुत राहत महसूस हुई तो वह गान...
लाईफ मज़ेदार......
Tag :Attitude
  September 9, 2009, 6:39 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163583)