Hamarivani.com

हक और बातिल

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); आज तो ज़मीन जायदाद वक़्फ़  करने  से डर लगता है की कहीं आने वाले वक़्त में यह अपनी ही क़ौम में आपसी दुश्मनी की वजह ना बन जाय |  पहले जिनके पास जायदाद ज़्यादा  थी वो अपनी ज़मीन वक़्फ़ कर दिया करते थे जिस से वो क़ौम के काम आये और महफूज़ भी रहे क्यों की यह वक़्फ़ इमाम ...
हक और बातिल...
Tag :
  July 22, 2017, 3:13 pm
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); एक दिन हज़रत ईसा अलैहिस्सलाम अपनी थकान उतारने के लिए लेटे तो आपने एक पत्थर अपने सर के नीचे रख लिया और आराम करने लगे।इतने में उधर से शैतान निकल पड़ा उसने जब यह देखा तो कहाः अन्तः आप भी दुनिया की तरफ़ झुक गए।हज़रत ईसा ने जैसे ही उसकी यह बात सुनी सर के नीच...
हक और बातिल...
Tag :
  July 22, 2017, 8:30 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); नमाज़, रोज़ा, हज, और जेहाद की भांति अम्र बिलमारूफ को भी धार्मिक आदेशों में समझा जाता है और उनके मध्य इसे विशेष स्थान प्राप्त है। हज़रत अली अलैहिस्सलाम के अनुसार अम्र बिलमारूफ और नही अनिलमुन्कर का दायेरा विस्तृत है और इसमें सांस्कृतिक, सामाजिक, आर्थ...
हक और बातिल...
Tag :social
  July 13, 2017, 9:34 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); मोअल्लाह बिन ख़ुनैस इमाम सादिक़ (अ) से रिवायत करते हैं कि मैं ने इमाम से पूछा कि एक मुसलमान का दूसरे मुसलमान पर क्या हक़ है? आपने फ़रमायाः (एक मुसलमान पर दूसरे मुसलमान के) सात वाजिब हक़ हैं कि अगर उनमें से किसी एक को भी छोड़ दिया जाए तो वह हमारी विलायत से...
हक और बातिल...
Tag :social
  July 13, 2017, 9:22 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); यह बात अत्यंत आवश्यक है कि पति-पत्नी, अच्छी समझ-बूझ के लिए संयुक्त जीवन से बाहर एक दूसरे की बातों और रहस्यों को बयान न करें क्योंकि जीवन साथी की बातें दूसरों से बयान करने के बड़े नकारात्मक परिणाम सामने आते हैं।राज़ या रहस्य का अर्थ होता है वह बात जो द...
हक और बातिल...
Tag :
  July 12, 2017, 7:28 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); समस्याओं से छुटकारे के लिए इमाम ज़माना (अ) से रिवायत, आज़माई  हुई दुआअनुवादकः सैय्यद ताजदार हुसैन ज़ैदीकिताब अलकरेमुल तय्यब में लेखक लिखते हैः मैने एक सम्मानित और विश्वासयोग्य सैय्यद का लिखा दिखा है जिसमें लिखा थाः मैंने 1093 हि0 क़0 को रजब के महीने ...
हक और बातिल...
Tag :
  July 8, 2017, 11:01 pm
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); हज़रत फ़ातेमा (स) से रिवायत बुखार से बचने की दुआ(एक विस्तिरित हदीस में हज़रत सलमान फ़ारसी से इस प्रकार रिवायत हुई है)हज़रत फ़ातेमा ज़हरा (स) ने सलमान फ़ारसी से फ़रमायाः हे सलमान मेरे पिता के देहांत के बाद तुमने मुझपर ज़ुल्म किया (तुम हमारी ज़ियारत को ...
हक और बातिल...
Tag :dua amaal
  July 8, 2017, 10:54 pm
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); सलाम हो ख़लक़े ख़ुदा में चुने रोज़गार नबी आदम (अ:स) परसलाम हो अल्लाह के वली और इस के नेक बन्दे शीस (अ:स) परसलाम हो ख़ुदा के दलीलों के मज़हर इदरीस (अ:स) परसलाम हो सलाम हो नूह (अ:स) पर अल्लाह ने जिन की दुआ क़बूल कीज़ियारते नाहिया हिन्दी अनुवादसलाम हो हूद (अ:स) पर ...
हक और बातिल...
Tag :
  June 30, 2017, 1:23 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); बरज़ख़आयाते क़ुरआन और अहादीस मासूमीन (अ) से मालूम होता है कि मौत इंसान की नाबूदी का नाम नही है बल्कि मौत के बाद इंसान की रूह बाक़ी रहती है। अगर आमाल नेक हों तो वह रूह आराम व सुकून और नेमतों के साथ रहती है और अगर आमाल बुरे हों तो क़यामत तक अज़ाब में मुब्त...
हक और बातिल...
Tag :
  June 30, 2017, 1:19 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); रजब महीने की पहली शबे जुमा (गुरुवार की रात) को लैलतुर रग़ाएब कहा जाता है यानी आर्ज़ूओं और कामनाओं की रात ...इस महान रात के कुछ ख़ास आमाल हैं, हमारी अगर कोई इच्छा कोई दुआ है और हम चाहते हैं कि अपनी कोई आरज़ू को पूरा कराएं तो हमको इस रात में ईश्वर की बारगाह म...
हक और बातिल...
Tag :rajab
  June 30, 2017, 1:13 am
हर सच्चे मुसलमान की ख्वाहिश हुआ करती है की उसे अल्लाह के नेक बन्दों की जियारत करने का मौक़ा  मिले और इसी को अल्लाह से  मुहब्बत कहा जाता है | अल्लाह के नेक बन्दे  अपनी ज़िन्दगी में भी अल्लाह के नेक बन्दों के आस पास रहना पसंद करते हैं और मौत के बाद उनके रोजों , क़ब्रों पे जा ...
हक और बातिल...
Tag :FEATURED
  June 28, 2017, 10:55 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); सवालः क्या रमज़ान से पहले फ़क़ीर को फ़ितरा देना सही हैजवाबः नहीं, सही नहीं है, लेकिन (रमज़ान से पहले) क़र्ज़ के तौर पर फ़क़ीर को दे दे और ईद के दिन उस क़र्ज़ को फ़ितरा मान कर माफ़ कर दे।(आयतुल्लाह ख़ामेनेई से इस्तिफ़ता)आयतुल्लाह सीस्तानीअगर कोई इंसान ...
हक और बातिल...
Tag :अहकाम
  June 25, 2017, 4:22 pm
  ईद के चांद ने वातावरण को एक नए रूप मे खुशगवार बना दिया . चांद देखते ही लोगों के बीच फ़ितरे की बातें होने लगीं.  फ़ितरा उस धार्मिक कर को कहते हैं जो प्रत्येक मुस्लिम परिवार के मुखिया को अपने परिवार के प्रत्येक सदस्य की ओर से निर्धनों को देना होता है. रमज़ान में चरित्...
हक और बातिल...
Tag :नफ्स की बीमारियाँ
  June 25, 2017, 9:39 am
सभी लोगों को ईद की मुबारकबाद के साथ मैं सबसे पहले मशहूर शायर कामिल जौनपुरी के इन शब्दों को आप सभी तक पहुंचाना चाहूँगा |मैखान-ए-इंसानियत की सरखुशी, ईद इंसानी मोहब्बत का छलकता जाम है।आदमी को आदमी से प्यार करना चाहिए, ईद क्या है एकता का एक हसीं पैगाम है।              &nbs...
हक और बातिल...
Tag :festival
  June 25, 2017, 9:37 am
बुशरा अलवीचाँद का देखा जाना इस्लामी फ़िक़्ह का बहुत ही अहम मसअला है जिसके बारे में हमारे मराजे और विद्वानों ने बहुत सी किताबें लिखी हैं, और इस्लामी शरीअत के बहुत से काम जैसे रमज़ान के रोज़े, हज, ईद, बक़्रईद शबे क़द्र जैसी चीज़ें चाँद से ही साबित होती हैं, और इस्लाम का विभ...
हक और बातिल...
Tag :society
  June 25, 2017, 9:34 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); रिवायत मे बयान किया गया है कि बच्चों को नमाज़ सिखाना  माँ बाप की सबसे बड़ी जिम्मेदारी है। माता पिता को चाहिए कि जब बच्चा तीन साल का हो जाये तो इसको ला इलाहा इल्लल्लाह जैसे वाक्य याद कराएं। और फिर कुछ समय के बाद उसको अपने साथ नमाज़ मे खड़ा करें। इस तर...
हक और बातिल...
Tag :moral stories
  June 25, 2017, 9:31 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); इस्लाम एक समाजिक दीन है और उसके मानने वाले केवल अल्लाह तआला की इच्छा के लिए और उसकी राह में क़दम उठाते हुए एक दूसरे से सम्बंध और सम्पर्क रखते हैं। इस्लाम ने हमें समाज में ज़िन्दगी बिताने के सिद्धांत भी अच्छी तरह बता दिए हैं ताकि उनकी पहचान के बाद उ...
हक और बातिल...
Tag :
  June 25, 2017, 9:13 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); अबू बसीर कहते हैं कि मै इमाम सादिक़ (अ) के पास पहुँचा और कहा कि आपका एक शिया है जो बहुत परहेज़गार और मुत्तक़ी है उसका नाम उमर है।एक दिन वह सहायता मांगने के लिए ईसा बिन आयुन के बाद गया।ईसा ने कहा कि मेरे पास ज़कात का पैसा है। लेकिन मैं उसमें से तुम्हें कु...
हक और बातिल...
Tag :
  June 25, 2017, 8:45 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); रिश्तेदारों से दूरी मौत को क़रीब लाती हैकुलैनी अपनी पुस्तक अलकाफ़ी में लिखते हैं कि एक व्यक्ति इमाम सादिक़ (अ) के पास आया और कहने लगा मौला मेरे चचा के बेटे ने मेरा जीना दूभर कर दिया है। और मुझे इतना विवश कर दिया है कि अब मेरा जीवन केवल एक कमरे में सिमट ...
हक और बातिल...
Tag :
  June 20, 2017, 1:13 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); बहाने बाज़ीजुनेद बग़दादी कहते हैं मुझे शैतान से मुलाक़ात का शौक़ था एक दिन मैं मस्जिद के द्वार पर खड़ा था कि अचानक एक बूढ़ा दूरे से आता हुआ दिखाई दिया, जब वह क़रीब आया तो उसे देख कर मुझे डर लगने लगा।मैने उससे पूछाः तुम कौन हो?उसने उत्तर दियाः मैं तुम्...
हक और बातिल...
Tag :
  June 20, 2017, 1:09 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); मोमिन को प्रसन्न करना बेहतरीन इबादतइमाम हुसैन (अ) ने फ़रमाया मेरे नाना रसूले ख़ुदा (अ) का कहना है किः नमाज़ के बाद बेहतरीन कार्य यह है कि मोमिन को ऐसे कार्यों और माध्यमों से प्रसन्न किया जाए जो ख़ुदा के आदेशों की अवहेलना में उपयोग न किए जाते हों।मैं अ...
हक और बातिल...
Tag :
  June 20, 2017, 1:06 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); इब्राहीम बिन हाशिम कहते हैं मैंने अरफ़ात में अब्दुल्लाह बिन जुनदब से अधिक दुआ मांगने वाला कोई व्यक्ति नहीं देखा। मैंने देखा कि हर समय उनके हाथ आसमान की तरफ़ उठे हुए हैं और उनकी आँखों से आँसुओं की बरसात हो रही है।मैंने उनसे कहा कि अरफ़ात के मैदान में...
हक और बातिल...
Tag :
  June 20, 2017, 1:04 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); माता-पिता की नारज़गी मौत को कठिन बना देती हैएक व्यक्ति की मौत का समय आ चुका था। उस व्यक्ति की मौत का समय तो आ चुका था लेकिन किसी प्रकार भी आत्मा उसके शरीर से निकल नही पा रही थी। रसूले इस्लाम (अ) उसके पास पहुँचे।आपने उसे आवाज़ दी और पूछा इस समय तुम्हें क्...
हक और बातिल...
Tag :
  June 19, 2017, 1:54 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); कभी किसी को बुराभला न कहोएक दिन पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद मुस्तफ़ा (स) के पौत्र इमाम जाफ़र सादिक़ अलैहिस्सलाम अपने एक साथी के साथ बाज़ार से गुज़र रहे थे।  इमाम के साथी के पीछे-पीछे उसका एक दास चल रहा था। एक बार इमाम सादिक़ के साथी ने पीछे मुड...
हक और बातिल...
Tag :
  June 19, 2017, 1:41 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); दुनिया का पहला क़त्लसकीना बानों अलवीहम आपके सामने आज दुनिया के पहले क़ल्त के बारे में बयान करने जा रहे हैं।ईश्वर ने सारे इन्सानों के पिता हज़रत आदम अलैहिस्सलाम को सम्बोधित किया और फ़रमायाः आप अपने छोटे बेटे हाबील को अपना उत्तराधिकारी घोषित करें ...
हक और बातिल...
Tag :
  June 19, 2017, 1:38 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167957)