feedji.com
हमारीवाणी ने बनाई नए युग की #BloggerCommunity जहाँ आप ना केवल आसानी से ब्लॉग लिख सकते हैं, अपनी ब्लॉग-पोस्ट शेयर कर सकते हैं, विषय आधारित चर्चा कर सकते हैं, बल्कि नए युग से कदमताल करते हुए सोशल मिडिया से जुडी अनेक सुविधाओं का प्रयोग कर सकते हैं.

3
View
My ImageAuthor akhtar khan akela
विश्व स्तरीय महामारी कोरोना नियंत्रण मामले में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत परफेक्ट ,विश्वस्तरीय कोरोना नियंत्रण मामले में सर्वश्रेष्ठ साबित हुए है ,जबकि कोरोना के बाद उपजे हालातों में , राजस्थान की आम जनता ,,चिकित्सक ,, कोरोना वॉरियर्स ,खासकर ,पुलिस कर्मिय... Read more
Tag :
4
View
My ImageAuthor प्रमोद जोशी
अखबारों का रूपांतरण किस तरह किया जा सकता है, इसे देखने के लिए दुनिया के अखबारों की गतिविधियों पर नजर रखनी चाहिए. एक बात तय है कि कागज के बजाय अब सूचनाएं वैब पर आ रही हैं. भविष्य के माध्यम क्या होंगे, यह बताना मुश्किल है, पर उसकी दिशा देखी जा सकती है. दूसरे सूचना के माध्यमों ... Read more
Tag :
Blogs
Follow me
June 7, 2020, 7:49 am
3
View
My ImageAuthor Himanshi Choudhary
Save your valuable Data and valuable Information from hackers- Your each and every activity may being watched by some one and you will have to adopt some new security measures. Some people save their data on cloud instead of their hard drive and access from any where. The service is excellent but all services like Google Drive, Sky Drive, Drop Box are on the target of the hackers. Activating privacy settings in your browser, installing a good quality antivirus, visiting only secure sites using secure server layers where all data are transferred encrypted, using only secure sites for instant messaging may help you considerably but there is no guarantee. I am giving below the details of s... Read more
Tag :email security
4
View
My ImageAuthor डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मित्रों!एक फिल्मी गीत की पंक्तियों के साथ-रविवासरीय प्रस्तुतिका प्रारम्भ करता हूँ।कागज़ कलम दवात लालिख दूँ दिल तेरे नाम करूँदिल क्या तू जान भी माँगे तो दूँ जान... --कलम की बात चली है तो कलम के बारे मेॆं भी जान लीजिए-लेखनी, कलम या पेन वह वस्तु है जिससे कागज ... Read more
Tag :शब्द-सृजन- 24
Blogs
Follow me
June 7, 2020, 12:01 am
4
View
My ImageAuthor कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
कितने बजे पहुँचोगी स्टेशन?रुद्रांश ने सीधा सा सवाल पूछा.क्यों, मिलने की बहुत जल्दी है? ट्रेन के समय पर ही पहुंचेंगे.उधर से अनामिका ने खिलखिलाते हुए उसकी बात का जवाब दिया. दोनों तरफ से फिर हलकी-फुलकी नोंक-झोंक होते हुए बात समाप्त हुई.ट्रेन अपनी स्पीड से दौड़ी जा रही थी. दोन... Read more
Tag :प्रेम कहानी
8
View
My ImageAuthor rozkiroti
         प्राचीन काल में टूटी हुई शहरपनाह वाले नगर पराजित लोगों को दिखाते थे, जिन्हें खतरों और लज्जा का सामना करना पड़ता था। इसी लिए निर्वासित यहूदियों ने वापस लौट कर पहले यरूशलेम की शहरपनाह को बनाया। उन्होंने यह कैसे किया? साथ-साथ मिलकर, एक दूसरे की सहायता करते ह... Read more
Tag :समाज
9
View
My ImageAuthor डॉ. जेन्नी शबनम
महात्मा गाँधी ने कहा था कि व्यक्ति अगर हिंसक है तो वह पशु के समान है। मुझे यह महसूस होने लगा है कि मानव पशु बन चुका है और पशु मानव से ज्यादा सभ्य हैं। अगर पशुओं को नुकसान न पहुँचाया जाए, तो वे कुछ नहीं करते हैं। पशुओं में न लोभ है, न द्वेष, न ईर्ष्या, न प्रतिकार का भाव, न मान सम्मान अपमान की भावना। प्रकृति के साथ प्रकृति के बीच सहज जीवन ही प... Read more
Tag :Social
Blogs
Follow me
June 5, 2020, 11:56 pm
9
View
My ImageAuthor कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
स्नातक स्तर तक की पढ़ाई पूरी न हो सकी थी कि पिताजी का आदेश मिला कि वापस घर आ जाओ, आगे नहीं पढ़ाना है. उस समय हम स्थिति समझ सकते थे. घर से पढ़ने के लिए ग्वालियर पहुँचे और वहाँ पढ़ने से ज्यादा नाम सामने आने लगा लड़ाई-झगडा करने में. कहते हैं न कि बद अच्छा, बदनाम बुरा. कुछ नाम वास्तविक ... Read more
Tag :परिवार
9
View
My ImageAuthor डॉ. जेन्नी शबनम
फूलवारी ******* जब भी मिलने जाती हूँ   कसकर मेरी बाँहें पकड़, कहती है मुझसे -   अब जो आई हो, तो यहीं रह जाओ   याद करो, जब अपने नन्हे-नन्हे हाथों से   तुमने रोपा था, हम सब को   देखो कितनी खिली हुई है बगिया   पर तुम्हारे बिना अच्छा नहीं लगता   बहुत याद आती हो त